स्तंभकार अमित राजपूत के नाम विश्व रिकॉर्ड

हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड तथा इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज


नई दिल्ली

 ब्रॉडकास्टर एवं स्तंभ्‍ाकार अमित राजपूत ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लंदन के हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने अमित राजपूत के नाम विश्व के सबसे युवा स्तंभकार  होने का रिकॉर्ड दर्ज किया है। इसी के साथ स्तंभकार र अमित राजपूत की ख्याति अंतर्राष्ट्रीय पटल पर फैल गयी है और उन्होंने दुनियाभर में भारत का मान बढ़ाया है।

दिलचस्प है कि आईआईएमसी के 2014-15 बैच से प्रशिक्षित पत्रकार अमित राजपूत को न सिर्फ़ हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने उन्हें दुनिया का सबसे युवा स्तंभकार  घोषित किया है, बल्कि इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड ने भी उनका नाम अपनी रिकॉर्ड बुक में दर्ज़ किया है। इस तरह इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड तथा हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने वाले अमित राजपूत भारत और भारत के बाहर वैश्विक स्तर पर बतौर दुनिया के सबसे युवा  स्तंभकार अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुए हैं।

अमित राजपूत ने नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान से पत्रकारिता का प्रशिक्षण लेने के बाद अपने कॅरियर की शुरुआत आकाशवाणी-दिल्ली में प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम ‘मन की बात’ के साथ की थी। आकाशवाणी में रहते हुए ही इन्होंने एफएम रेनबो इंडिया तथा एफएम गोल्ड में भी अपनी सेवाएँ दीं। इसके साथ ही ये प्रसार भारती द्वारा आकाशवाणी व दूरदर्शन के बीच क्रॉस चैनल पब्लिसिटी व क्रॉस मीडिया पब्लिसिटी के गठित प्रोग्राम प्रमोशन यूनिट की स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य भी रहे। इसके बाद विभिन्न संस्थानों में पांच वर्ष से अधिक समय से हाल ही तक अमित मेनस्ट्रीम मीडिया में सक्रिय रहे, किन्तु इन दिनों वह स्वतंत्र लेखन में सक्रिय हैं। आकाशवाणी से इनका जुड़ाव आज भी विभिन्न कार्यक्रमों के लेखन मसलन रेडियो रूपक, प्रोमो व नाट्य-लेखन आदि के जरिए लगातार बना हुआ है।

उत्तर प्रदेश के जनपद-फतेहपुर के कस्बा खागा में जन्में अमित राजपूत की ब्रॉडकास्टर व स्तंभ्‍ाकार के अलावा एक संवेदनशील लेखक और नाटककार के रूप में भी पहचान है। अंतर्वेद प्रवर, जान है तो जहान है, आरोपित एकांत तथा हाल ही में प्रकाशित हुई- कोरोनानामा इनकी चर्चित पुस्तकें हैं।

 रंगकर्म में गहरी दिलचस्पी रखने वाले विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार अमित राजपूत का नाटक- अनिरुद्ध अपने मंचन से पूर्व ही लगातार चर्चा में बना हुआ है। अमित के नाम विश्व रिकॉर्ड कायम होने से आईआईएमसी परिवार ने ख़ुशी जताई है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget