भारतीय क्रिकेटरों की बढ़ी सैलरी

सौरव गांगुली का दिल जीतने वाला फैसला, रद्द हुए सीजन का भी पैसा मिलेगा 


नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानि बीसीसीआई ने एक बार फिर एक बड़ा फैसला लेते हुए खिलाड़ियों और उनके फैंस का दिल जीत लिया है। दरअसल बीसीसीआई ने सोमवार को भारतीय घरेलू क्रिकेटरों की सैलरी में इजाफे का ऐलान किया। बीसीसीआई ने सीनियर घरेलू क्रिकेटरों की सैलरी प्रति मैच 60 हजार रुपये कर दी है। जो खिलाड़ी 40 या उससे ज्यादा मैच खेले हैं उन्हें हर मैच के 60 हजार रुपये मिलेंगे। वहीं अंडर-23 और अंडर-19 खिलाड़ियों की भी सैलरी बढ़ाई गई है। अंडर -23 के खिलाड़ियों को हर मैच के 25 हजार रुपये मिलेंगे और अंडर-19 क्रिकेटरों को प्रति मैच 20 हजार रुपये दिये जाएंगे। बीसीसीआई की बैठक में सोमवार को ये फैसला लिया गया। बीसीसीआई सचिव जय शाह ने ट्वीट कर ये खुशखबरी घरेलू क्रिकेटरों को दी। यही नहीं जिन खिलाड़ियों ने साल 2019-20 घरेलू सीजन में हिस्सा लिया था, उन्हें 50 फीसदी अतिरिक्त मैच फीस दी जाएगी। बीसीसीआई ने 2020-21 सीजन रद्द होने के चलते ये फैसला लिया। बता दें कोरोना की वजह से 2020-21 में रणजी ट्रॉफी समेत पूरा घरेलू सीजन ही रद्द हो गया था। बता दें भारतीय घरेलू खिलाड़ियों को फिलहाल एक रणजी ट्रॉफी मैच, विजय हजारे ट्रॉफी के एक मैच के लिए 35 हजार रुपये मिलते हैं। वहीं सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए बीसीसीआई 17,500 रुपये प्रति मैच देती है, लेकिन अब बीसीसीआई ने मैच फीसदी 25 हजार रुपये तक बढ़ा दी है। जब सौरव गांगुली ने बीसीसीआई अध्यक्ष पद संभाला था तो उन्होंने घरेलू क्रिकेट में कॉन्ट्रैक्ट सिस्टम लाने की बात कही थी। भारतीय घरेलू सीजन का आगाज 21 सितंबर से हो रहा है। इस सीजन में सीनियर वीमेंस वनडे लीग और महिला वनडे चैलेंजर ट्रॉफी भी खेली जाएगी।

 पिछले साल रद्द हुई रणजी ट्रॉफी इस साल 16 नवंबर को शुरू होगी और 19 फरवरी, 2022 को फाइनल होगा. विजय हजारे ट्रॉफी का आगाज 23 फरवरी से 26 मार्च तक होगा. बीसीसीआई के इस सत्र में कुल 2127 घरेलू मुकाबले खेले जाएंगे.


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget