टेलिकॉम सेक्टर में 3,345 करोड़ निवेश वाले प्रस्तावों को मंजूरी


नई दिल्ली

दूरसंचार विभाग ने गुरुवार को अगले साढ़े चार वर्षों में 3,345 करोड़ रुपए के निवेश वाले 31 प्रस्तावों को अपनी मंजूरी दे दी है। इस बारे में जानकारी देते हुए संचार राज्य मंत्री देवुसिंह चौहान ने कहा कि अगले 4.5 वर्षों में 3,345 करोड़ रुपए का निवेश सिर्फ एक शुरुआत है। सरकार उद्योग जगत को प्रोत्साहित कर रही है। PLI योजना के लिए चुनी गई कंपनियों में नोकिया इंडिया, एचएफसीएल, डिक्सन टेक्नालॉजीज, फ्लेक्सट्रॉनिक्स, फॉक्सकॉन, कोरल टेलीकॉम, वीवीडीएन टेक्नालॉजीज, आकाशस्थ टेक्नालॉजीज और जीएस इंडिया शामिल हैं। 

दूरसंचार विभाग ने 24 फरवरी 2021 को दूरसंचार और नेटवर्किंग उत्पादों के लिए PLI योजना को पांच वर्षों में 12,195 करोड़ रुपए के वित्तीय परिव्यय के साथ अधिसूचित किया है। भारत में टेलिकॉम गियर मैन्युफैक्चरिंग की योजना से, 2.44 लाख करोड़ रुपए के उपकरणों के उत्पादन को प्रोत्साहित करने और लगभग 40,000 लोगों के लिए प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार पैदा करने की उम्मीद की जा रही है। कोरल टेलीकॉम के प्रबंध निदेशक राजेश तुली ने कहा कि यह सभी PLI योजनाओं में पहली योजना है, जिसमें MSME भी शामिल है।

क्या है PLI स्कीम

देश में निर्माण (मैन्युफैक्चरिंग) गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से PLI योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के तहत कंपनियों को भरत में अपनी यूनिट लगाने और एक्सपोर्ट करने पर, वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत अगले पांच सालों में प्रोडक्शन करने वाली कंपनियों को 1.46 लाख करोड़ रुपए का इंसेंटिव दिया जाएगा। PLI स्कीम का लाभ ऑटोमोबाइल, नेटवर्किंग प्रोडक्ट, फूड प्रॉसेसिंग, रसायन विज्ञान, टेलिकॉम, फार्मा और सोलर पीवी निर्माण जैसे क्षेत्रों को दिया जाएगा। इसके तहत टेलिकॉम सेक्टर में निर्माण (मैन्युफैक्चरिंग) गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए, 12,195 करोड़ रुपए की प्रोत्साहन योजना को तैयार किया गया है। गुरुवार को दूरसंचार विभाग ने अगले साढ़े चार वर्षों में 3,345 करोड़ रुपए के निवेश वाले 31 प्रस्तावों को अपनी मंजूरी 

भी दे दी है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget