मंत्रियों के पास वसूली का सॉफ्टवेयर

फड़नवीस ने कहा इतिहास की सबसे भ्रष्ट सरकार ।   मुख्यमंत्री पर पूर्व मुख्यमंत्री का पलटवार


मुंबई 

महाराष्ट्र के इतिहास में जनता को ऐसी सरकार मिली है जो सर्वाधिक घोटाले और भ्रष्टाचार करने वाली सरकार है। जिसका नेतृत्व शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे कर रहे हैं। दशहरा रैली में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा भाजपा पर किए गए हमले का जवाब देते हुए विपक्ष नेता देवेंद्र फड़नवीस ने यह बात कही। उन्होंने उद्धव ठाकरे को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार के मंत्रियों को वसूली करने के लिए सीएम ने सॉफ्टवेयर मुहैया कराया है। जिसमे कौन कितनी वसूली करता है, उसका रजिस्ट्रेशन किया जाता है। 

मुख्यमंत्री के आरोपों का जवाब देते हुए फड़नवीस ने कहा कि राजनीति में महत्वाकांक्षा रखना गलत नहीं है लेकिन इसे छिपाना और इसके पीछे एक विवाद निर्माण करना गलत है। परिवारवाद को लेकर तंज कसते हुए फड़नवीस ने कहा कि राजनीति में भाई-भतीजावाद का मुखौटा हटा देना चाहिए।

महाराष्ट्र को प. बंगाल नहीं बनने देंगे 

पश्चिम बंगाल को लेकर सीएम द्वारा दिए गए बयान पर पूर्व सीएम ने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल बनाने की बात कर रहे है। उन्हें यह मालुम होना चाहिए कि पश्चिम बंगाल में एक भी उद्योग नहीं टिकता और वहां विरोधियों के बोलने पर उन्हें मार दिया जाता है। जब तक शरीर में रक्त है तब तक महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे।                        

...तो आधा मंत्रिमंडल होता जेल में

मुख्यमंत्री द्वारा सीबीआई, ईडी और एनसीबी के दुरूपयोग करने के आरोप का जवाब देते हुए फड़नवीस ने कहा कि केंद्र सरकार अगर  इन सभी जांच एजेंसी का इस्तेमाल करती तो सरकार का आधा मंत्रिमंडल अब तक जेल में होता। क्योंकि हम लोकतंत्र पर विश्वास करने वाले लोग है। मुख्यमंत्री संघीय व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। उन्हें मालूम होना चाहिए कि वामपंथी दल भारत के संविधान को बदलने की साजिश रचने की साजिश कर रहे हैं, क्या उद्धव ठाकरे भी उन्ही के राह पर तो नहीं। 

देसाई, रावते और रामदास कदम को क्यों नहीं बनाया सीएम 

सीएम ठाकरे द्वारा दिए गए बयान की अगर किसी शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाया गया होता तो मैं मुख्यमंत्री नहीं बनता, इसके जवाब में विपक्ष नेता फड़नवीस उद्धव ठाकरे पर जोरदार तंज कसा और कहा कि अगर शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाना था तो शिवसेना के वरिष्ठ नेता सुभाष देसाई,दिवाकर रावते और रामदास कदम को क्यों मुख्यमंत्री नहीं बनाया। सीएम  ठाकरे पर आरोप लगाते हुए फड़नवीस ने कहा कि सत्ता और कुर्सी की लालच में उद्धव ठाकरे ने खुद मुख्यमंत्री बने।

‘मुझे जनता की समस्याओं को सुनने में रूचि ’

फड़नवीस ने कहा कि मुख्यमंत्री सहित आघाड़ी के नेता व मंत्री बार -बार सरकार गिराने की चुनौती देते हैं। मैं कहना चाहता हूं कि हमें जनता की समस्याओं को सुनने, उसका निदान कैसे होगा इसमें रुचि है, न की सरकार गिराने में। यह सही है कि महाविकास आघाड़ी सरकार कब गिर जाएगी, यह किसी को नहीं मालूम।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget