समीर वानखेड़े स्टोरी का यह तो इंटरवल है

मलिक के एनसीबी अधिकारी पर हमले जारी


मुंबई 

राकांपा के मुख्य राष्ट्रीय प्रवक्ता और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े की स्टोरी का अभी इंटरवल हुआ है। अब आगे क्लाइमैक्स शुरु होगा।

मलिक ने कहा कि स्टोरी का इंटरवल हो गया है। जो पकड़कर ले जा रहा था (गोसावी) वह जेल में चला गया। जिन लोगों की अभी तक जमानत नहीं होने देने की भूमिका थी, आज उनकी खुद की गिरफ्तारी की स्थिति बन गई है। क्लाइमैक्स शुरु हो गया है। अब नई स्थिति बन गई है। पिक्चर को लेकर संजय राऊत ने कहा कि वे इंटरवल के बाद बोलेंगे। ऐसे में अब हम सलीम-जावेद की तरह मिलकर काम करेंगे।

तोता पिंजरे में होने वाला है कैद

उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि तोता (समीर वानखेड़े) पिंजरे में कैद होने वाला है, ऐसे में जिन्न घबराने लगे हैं। समीर वानखेड़े के जरिए महाराष्ट्र की जनता और महाविकास आघाड़ी सरकार को बदनाम करने की साजिश हो रही है।

 विधानमंडल अधिवेशन में करेंगे खुलासा 

मलिक ने कहा कि काशिफ खान क्रूज ड्रग्स पार्टी का आयोजक था। वह सेक्स, ड्रग्स, पार्नोग्राफी का बड़ा रैकेट चलाता है, लेकिन उस पर कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरु होने वाला है। अधिवेशन में मेरे ऊपर आरोप लगने पर इसके जवाब में जो कुछ सामना आएगा, उससे कई लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी। अधिवेशन में मैं बड़े-बड़े नामों का खुलासा करूंगा। उन्होंने कहा कि मुझे भंगार वाला बोला जा रहा है। मेरे पिता मुंबई में कपड़े और भंगार का व्यवसाय करते थे। मुझे मेरे व्यापार पर अभिमान है।

राकांपा का पोपट रोज बोलता है

विधानसभा में नेता विपक्ष देवेंद्र फड़नवीस ने राकांपा प्रवक्ता और मंत्री नवाब मलिक पर पलटवार किया है. शुक्रवार को फड़नवीस ने कहा कि मलिक को कोई काम नहीं है इसलिए सुबह उठते ही पोपट की तरह बोलते रहते हैं. उन्होंने कहा कि ड्रग्स का मामला हमारे लिए उतना महत्वपूर्ण नहीं जितना जनता और किसानों की समस्या है. कौन किसका पोपट है, यह राकांपा के लिए महत्वपूर्ण होगा, हमारे लिए नहीं क्योंकि राकांपा का पोपट हर रोज बोलता रहता है।

मलिक की धमकी से नहीं डरता

भाजपा नेता मोहित भारतीय (कंबोज) ने कहा कि नवाब मलिक प्रेस कांफ्रेस में नट बोल्ट खोलकर गाड़ देने, जला देने, तोड़ मरोड़ देने की धमकी दे रहे हैं। महाराष्ट्र में शासन, प्रशासन है या नहीं। एक कैबिनेट मंत्री मुझे खुलेआम मीडिया के सामने जान से मारने की धमकी दे रहा है। मैं मुख्यमंत्री और राज्यपाल से पूछना चाहता हूं कि क्या कैबिनेट मंत्री आकर धमकाए यही शासन और प्रशासन है। क्या अब भी सचिन वाझे और परमबीर सिंह जैसे पुलिस वाले मुंबई पुलिस में हैं जो इनके दबाव में आकर झूठे मामले दर्ज कर मेरा मनसुख हिरन जैसा हाल करेंगे। मैं किसी तरह की धमकी से डर कर झुकने वाला नहीं हूं। मलिक इससे पहले दावा कर चुके हैं कि क्रूज पार्टी के दौरान मोहित का एक रिश्तेदार था जिसे पकड़ने के बाद छोड़ दिया गया। आरोपों से नाराज मोहित ने मलिक पर 100 करोड़ रुपए की मानहानि का मुकदमा दायर किया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget