लखीमपुर खीरी दोहराने की साजिश

लखनऊ 

'लखीमपुर खीरी' में मचे बवाल को दोहराने की कोशिश हो रही है। इस बार निशाना केंद्रीय मंत्री या राज्य मंत्री नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। जिस तरह के इनपुट मिल रहे हैं, उससे नौ अक्‍टूबर का दिन 'योगी' के लिए जोखिम भरा साबित हो सकता है। केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियां और राज्य पुलिस, मुख्यमंत्री की सुरक्षा को लेकर सचेत हो गई हैं। मुख्यमंत्री के सुरक्षा घेरे और रूट को लेकर कुछ बदलाव किए जा रहे हैं। किसान आंदोलन में लोगों को तोड़फोड़ के लिए उकसाने वाला आतंकवादी एवं सिख फॉर जस्टिस का संस्थापक व कानूनी सलाहकार गुरपतवंत सिंह पन्नू एक बार फिर चर्चा में है। इस बार उसने नौ अक्‍टूबर को 'लखनऊ' में लखीमपुर खीरी जैसा बवाल मचवाने की बात कही है। 

पन्नू ने किसानों के पास मैसेज भेजकर कह रहा है कि वे ड्रोन, ट्रैक्टर और दूसरे वाहनों की मदद से मुख्यमंत्री 'योगी' को घेर लें। लखीमपुर खीरी में मारे गए किसानों के परिजनों से पन्नू ने कहा कि वे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दी गई मुआवजा राशि वापस कर दें। वह उन्हें दोगुनी राशि प्रदान करेगा। नौ अक्‍टूबर को 'लखनऊ' में कई बड़े नेताओं के कार्यक्रम तय हैं। इनमें बसपा प्रमुख मायावती की रैली भी शामिल है। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी भी अपने राजनीतिक अभियान की शुरुआत लखनऊ से कर सकती हैं। गुरपतवंत सिंह पन्नू पिछले कई दिनों से ऐसे मैसेज भेज रहा है। उसने पत्रकारों को भी ऐसे मैसेज भेजे हैं। इनमें कहा गया है कि पंजाब के अलावा देश के दूसरे राज्यों के किसान एकत्रित हो जाएं। लखीमपुर खीरी में किसानों को मारा गया है। नौ अक्‍टूबर को सभी किसान एक होकर लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को घेर लें। इसके लिए पन्नू ने किसानों से अपील की है कि वे सीएम योगी को घेरने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करें। ट्रैक्टर और दूसरे वाहनों की मदद से मुख्यमंत्री को घेर लें।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget