तीन दिनों में दें फसल क्षति रिपोर्ट

सीएम नीतीश ने सभी जिलों के डीएम को दिया आदेश

पटना

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी जिलों के डीएम को निर्देश दिया है कि पहले हुए नुकसान के साथ-साथ हाल के दिनों में अधिक बारिश के कारण हुई फसल क्षति का आकलन कर तीन दिनों के अंदर रिपोर्ट दें। साथ ही जहां अधिक जलजमाव के कारण बुआई नहीं हो सकी है, उसका भी ठीक से आकलन कर लें और सभी जिलों के प्रभावित क्षेत्र के लोगों को राहत एवं सहायता तत्काल उपलब्ध कराएं। बचे हुए बाढ़ प्रभावित लोगों को अनुग्रह अनुदान की राशि शीघ्र दें। मुख्यमंत्री ने अधिक बारिश के कारण उत्पन्न बाढ़ की स्थिति का वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज और सारण जिले का हवाई सर्वेक्षण करने के बाद एक अणे मार्ग में जल संसाधन और आपदा प्रबंधन विभाग की समीक्षा बैठक की। बैठक में 11 जिलों नवादा, नालंदा, पटना, वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, एवं सारण के जिलाधिकारी वीडियो काॅन्‍फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े हुए थे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कई निर्देश पदाधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि सड़कों एवं पुलों के साथ-साथ अन्य क्षति का भी आकलन कराएं। प्रभावित लोगों के साथ संपर्क बनाये रखें और उनके सुझावों पर भी गौर करें। सभी प्रभावित लोगों की पूरी संवेदनशीलता के साथ मदद करनी है। सभी प्रभावित लोगों की मदद करनी है, कोई भी वंचित न रहे, इसका विशेष ख्याल रखें। सभी जिलाधिकारी आपदा प्रबंधन विभाग, कृषि विभाग और पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के निरंतर 

संपर्क में रहें। उन्होंने पदाधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि बाढ़ के दौरान जो सड़कें क्षतिग्रस्त हुई हैं, उनकी शीघ्र मरम्मत कराएं। बैठक के दौरान जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस ने नदियों के जलस्तर की अद्यतन स्थिति, बाढ़ संघर्षात्मक कार्य तथा राहत ए‌वं बचाव कार्य की जानकारी मुख्यमंत्री के समक्ष दी। आपदा प्रबंधन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल ने भी आपदा राहत कार्यों के बारे में बताया। वहीं जिलाधिकारियों ने भी संबंधित कार्यों की जानकारी दी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget