जंग-ए-मैदान बना लखीमपुर खीरी


लखीमपुर खीरी

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के जिले में पहुंचने के दौरान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे के बीच तिकुनियां कस्बे में हिंसक टकराव हो गया। जिसमें अब तक कुल आठ लोगों की मौत हो चुकी है।  

किसानों का आरोप है कि विरोध प्रदर्शन के दौरान केंद्रीय मंत्री के बेटे ने उन पर कार चढ़ा दी। इससे कई किसान गंभीर रूप से घायल हो गए। इनमें से चार की मौत हो गई। गुस्साए किसानों ने मंत्री के बेटे के काफिले में दो गाड़ियों में तोड़फोड़ करते हुए आग लगा दी। पिटाई से चालक की मौत हो गई। मंत्री के बेटे ने खेतों में भागकर अपनी जान बचाई। 

बवाल की सूचना पर लखनऊ से कमिश्नर और आईजी रेंज मौके पर पहुंचे। किसान नेता राकेश टिकैत के दिल्ली से कूच  करने की सूचना के बाद किसानों ने कस्बे के इंटर कॉलेज में मृत किसानों के शव रखकर धरना शुरू कर दिया। वहीं केंद्रीय मंत्री का कहना है कि हंगामे के दौरान चालक को पत्थर लगने से गाड़ी अनियंत्रित होकर किसानों पर चढ़ने से हादसा हुआ।  आज सपा का एक प्रतिनिधिमंडल पीड़ित किसानों से मिलने लखीमपुर खीरी जाएगा। सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी वहां पर पहुंच सकते हैं। ये प्रतिनिधिमंडल घटना की जांच करेगा और पीड़ित किसानों से भी संवाद स्थापित करने का प्रयास रहेगा। 

मेरा बेटा शामिल नहीं: मंत्री

घटना पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र  ने सफाई देते हुए बताया कि इस घटना में मेरा बेटा शामिल नहीं है। मेरे पास इस बात को साबित करने के लिए वीडियो सबूत के तौर पर मौजूद है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस हिंसक झड़प में तीन भाजपा कार्यकर्ताओं समेत मेरे ड्राइवर को असामाजिक तत्वों ने पीट- पीटकर मार डाला। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget