कल से खुलेगा शिर्डी साई मंदिर

रोजाना 15 हजार भक्त कर सकेंगे दर्शन


मुंबई

तकरीबन छह माह से बंद शिर्डी स्थित साई बाबा मंदिर के दरवाजे 7 अक्टूबर से श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएंगे। साई बाबा संस्थान की तरफ से भक्तों के लिए नई नियमावली बनाई गई है, जिसका पालन करना जरूरी होगा। भक्त मंदिर में भक्त हार, फूल, प्रसाद लेकर नहीं जा सकेंगे। रोजाना केवल 15 हजार श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे। हर घंटे 1150 श्रद्धालु साई मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे। आरती के वक्त केवल 90 श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा।

बच्चों, वरिष्ठ नागरिकों को प्रवेश नहीं 

साई संस्थान ने मंगलवार को नियमावली घोषित की। नियमावली के अनुसार 10 वर्ष से नीचे उम्र के बच्चों और 65 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों और गर्भवती महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। मंदिर में काकड आरती से लेकर आखिरी आरती में केवल 90 लोग उपस्थित रह सकेंगे। इनमें 10 स्थानीय ग्रामीण और 80 श्रद्धालु शामिल होंगे। रोजाना 15 हजार श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति मिलेगी, इस तरह हर घंटे 1150 श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे।

मास्क पहनना अनिवार्य

श्रद्धालुओं को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। मंदिर में नंबर 2 प्रवेश द्वार से आने साथ ही 4 और 5 नंबर द्वार से बाहर जाने की सुविधा दी गई है।  साई  मंदिर दर्शन,  निवास व्यवस्था, भोजनालय, ऑनलाइन-ऑफलाइन प्रणाली और मंदिर के दैनिक कार्यक्रम जारी रहेंगे। बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने नवरात्रि के पहले दिन अर्थात 7 अक्टूबर से मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे, दरगाह को खोलने की अनुमति प्रदान की है। हालांकि धार्मिक स्थल पर जाते वक्त कोरोना के नियमों का पालन करना होगा।

सिद्धिविनायक में क्यूआर कोड से मिलेगा प्रवेश

गुरुवार से मुंबई स्थित सिद्धिविनायक मंदिर भी श्रद्धालुओं के लिए खुल जाएगा, हालांकि मंदिर में जाने से पहले क्यूआर कोड हासिल करना होगा। हर घंटे 250 भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा। श्रद्धालु सिद्धिविनायक मंदिर की वेबसाइट पर जाकर क्यू आर कोड हासिल कर सकते हैं। जिन भक्तों के पास क्यूआर कोड नहीं होगा, उन्हें मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। श्रद्धालुओं को सरकार की तरफ से जारी कोरोना नियमावली का पालन करना होगा। 10 साल से कम उम्र के बच्चों, 65 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों और गर्भवती महिलाओं को मंदिर में प्रवेश नहीं मिलेगा। श्रद्धालु  मंदिर में हार, फूल नारियल और प्रसाद लेकर नहीं जा सकेंगे।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget