पांच सांसदों पर जीतनराम मांझी का आरोप

बोले-जाली सर्टिफिकेट लगा हुए निर्वाचित

पटना

पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में शामिल जीतनराम मांझी ने बुधवार को दिल्ली में आयोजित पार्टी की बैठक में बड़ा आरोप लगाया है। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए मांझी ने कहा है कि केंद्रीय मंत्री सहित पांच सांसदों को फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीटों से लोकसभा के लिए चुना गया है। इसमें भाजपा के दो सांसदों के साथ ही कांग्रेस और ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के एमपी भी शामिल हैं। नीतीश कुमार सरकार का हिस्सा मांझी ने जांच की मांग की है। मांझी ने आरोप लगाया कि केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल और जय सिद्धेश्वर शिवाचार्य महास्वामी (भाजपा), कांग्रेस सांसद मोहम्मद सादिक, टीएमसी सांसद अपरूपा पोद्दार और निर्दलीय सांसद नवनीत रवि राणा चुनाव लड़ने के बाद एससी के लिए आरक्षित सीटों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

 मांझी ने जांच की मांग की है। हालांकि इन सांसदों की ओर से उनके आरोपों पर तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं आई, लेकिन उनमें से अधिकांश ने अतीत में आरोपों से इनकार किया है। बघेल के सहयोगियों ने दावा किया है कि उनकी जाति को उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति के रूप में अधिसूचित किया गया है, जहां से वे चुने गए हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget