हर किसी को ऐसी विदाई नसीब नहीं होती : गावस्कर


नई दिल्ली

आईपीएल 2021 में बतौर कप्तान रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर (आरसीबी) को पहला खिताब जिताने का विराट कोहली का सपना अधूरा रह गया। कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ सोमवार को एलिमिनेटर मुकाबले में मिली हार के बाद बैंग्लोर की टीम लीग के 14वें सीजन से बाहर हो गई। कोहली का बतौर कप्तान यह अंतिम मैच था और अब वह अगले सीजन से टीम की कप्तानी नहीं करेंगे। हालांकि विराट पहले ही यह साफ कर चुके हैं कि वह जब तक आईपीएल में खेलेंगे, तब तक बैंग्लोर के लिए ही खेलेंगे। इस बीच भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने आईपीएल में विराट की कप्तानी को लेकर बड़ा बयान दिया है। गावस्कर का मानना है कि खिताब नहीं जीतने के बावजूद कोहली का एक बल्लेबाज के रूप में टीम पर हमेशा प्रभाव पड़ा है। गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत के दौरान कोहली की कप्तानी की तुलना डॉन ब्रैडमैन और सचिन तेंदुलकर से की। उन्होंने कहा ​िक ये निश्चित रूप से निराशाजनक है। हर कोई ऊंचाई पर जाकर फिनिश करना चाहता है। लेकिन आप क्या चाहते हैं या फैंस क्या चाहते हैं हर बार उसके हिसाब से नहीं होता है। हमेशा कहानी वैसी नहीं लिखी होती है। हर किसी के किस्मत में बेहतरीन जीत के साथ समापन नहीं लिखा होता है। डॉन ब्रैडमैन को देखिए, अपने 100 की औसत के लिए उन्हें सिर्फ चार रन चाहिए थे और वो अपनी आखिरी पारी में जीरो पर ही आउट हो गए थे। वहीं सचिन तेंदुलकर अपने 200वें और आखिरी टेस्ट मैच में शतक लगाना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और केवल 74 रन ही बना पाए।'  कोहली की कप्तानी में आरसीबी 2016 में फाइनल में पहुंची थी, जहां कोहली टूर्नामेंट में टॉप स्कोरर रहे थे। उन्होंने 16 मैचों में 973 रन बनाए थे, जिसमें चार शतक और सात अर्धशतक शामिल थे। विराट की कप्तानी में बैंग्लोर ने 140 मैचों में 66 में जीत दर्ज की और 70 में उसे हार का सामना करना पड़ा। गावस्कर ने कहा ​िक स्क्रिप्ट हमेशा इस तरह से नहीं लिखी जाती है। हर किसी के पास इतनी ऊंचाई पर जाने का सौभाग्य नहीं होता है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget