वोट की होड़ में सियासी दौड़

लखीमपुर खीरी कांडः टिकैत बोले मामला खत्म


लखीमपुर खीरी

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को विपक्ष तूल देने में जुट गया है। यूपी ही नहीं, पंजाब, छत्तीसगढ़, राजस्थान, बंगाल से लेकर महाराष्ट्र तक सभी गैर भाजपा शासित राज्यों की राजनीति का मुख्य मुद्दा इस समय लखीमपुर खीरी है। कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी जैसी विपक्षी पार्टियों को लंबे समय बाद बड़ा मुद्दा हाथ लगा है और हर पार्टी के नेता वोट की होड़ में सियासी दौड़ लगाने में शामिल हो गए हैं, जबकि किसान आंदोलन के अगुआ राकेश टिकैत ने कह दिया है कि सरकार और किसानों के बीच समझौता हो जाने के बाद लखीमपुर का मामला खत्म हो गया है।

लखीमपुर में नेताओं का जमावड़ा

लखीमपुर में हुई हिंसा के बाद योगी सरकार और किसान संगठनों में भले ही सुलह हो गई हो, लेकिन राजनीतिक दलों ने 'न्याय की लड़ाई' के लिए लखीमपुर खीरी कूच कर दिया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कल लखीमपुर खीरी जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की। बुधवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी बहन प्रियंका गांधी के अलावा पंजाब और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों को लेकर लखीमपुर पहुंचे तो आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने भी मृतक किसानों के परिजनों से मुलाकात की। गुरुवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव जाएंगे तो दूसरी विपक्षी पार्टियों के नेता भी कतार में हैं। 

पंजाब में आंतरिक कलह से जूझ रही कांग्रेस ने लखीमपुर कांड को दोनों हाथों से लपका है। लखीमपुर खीरी में जो किसान मारे गए हैं, वे सिख थे और कांग्रेस को लगता है कि इनके साथ मजबूती से खड़े रहकर उसे पंजाब में भी सिखों की सहानुभूति हासिल हो सकती है। यही वजह है कि राहुल गांधी लखीमपुर में अपने साथ पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को भी ले गए। लखनऊ एयरपोर्ट पर ही उन्होंने मृतक किसानों के परिवारों के लिए 50-50 लाख रुपए आर्थिक सहायता का ऐलान कर दिया। उधर, पंजाब कांग्रेस ने नवजोत सिंह सिद्धू की अगुआई में मोहाली से लखीमपुर तक मार्च का ऐलान कर दिया है। इस बीच योगी सरकार में मंत्री सिध्दार्थनाथ सिंह और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने विपक्षी नेताओं की इस सियासी दौड़ को राजनीतिक पर्यटन बताया।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget