सनातन धर्म बचाने के लिए योगी को दोबारा लाना जरूरी: रवींद्र पुरी महाराज

प्रयागराज

भले ही उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन भाजपा को अभी से ही साधु-संतों का समर्थन मिलने लगा है। प्रयागराज के दारागंज में अखाड़ा परिषद के नए अध्यक्ष पद पर श्री पंचायती निरंजनी अखाड़े के सचिव रवींद्र पुरी महाराज के नाम का एेलान सोमवार को कर दिया गया है। वहीं, अध्यक्ष चुने के जाने के बाद श्री निरंजनी अखाड़ा के रविंद्र पुरी ने केंद्र और प्रदेश सरकार का समर्थन करते हुए हमेशा साधु-संतों को अपना समर्थन देने की बात कही। अखाड़ा परिषद के नए अध्यक्ष ने यह भी कहा कि योगी ही ऐसे हैं, जो साधु-संतों के मापदंडों पर खरे उतरते हैं, क्योंकि वह एक संत हैं। इसलिए हम लोग हमेशा योगी का समर्थन करते रहेंगे और लोगों से अपील करेंगे कि वह भी योगी आदित्यनाथ का समर्थन करें। वहीं, अखाड़े के महामंत्री हरी गिरी का दावा है कि सात अखाड़ों के प्रतिनिधियों ने बैठक में सीधे तौर पर हिस्सा लिया, जबकि निर्मोही अखाड़े के मदन मोहन दास ने पत्र भेजकर सोमवार की बैठक का समर्थन किया। इस तरह कुल तेरह अखाड़ों में आठ अखाड़ों के समर्थन से रवींद्र पुरी महराज को सर्वसम्मति से नया अध्यक्ष चुना गया है। अखाड़ा परिषद के नवनिर्वाचित अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज ने कहा कि यह बैठक अखाड़ा परिषद के नियम और परंपरा के अनुसार हुई है। 

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री हरी गिरी ने कहा कि अखाड़ा परिषद के नियमों के मुताबिक, अध्यक्ष पद पर महंत नरेंद्र गिरी का कार्यकाल जब तक बचा हुआ है, तब तक के लिए निरंजनी अखाड़े के ही किसी प्रतिनिधि को दिया जाता है। ऐसे में हरिद्वार में 21 अक्टूबर को हुई बैठक का कोई औचित्य ही नहीं है। उन्होंने कहा कि आगे जो भी अखाड़े बैठक में शामिल नहीं हुए या नाराज चल रहे हैं, उन्हें मना लिया जाएगा। बैठक के बाद साधु-संतों ने एकमत होकर योगी का समर्थन करने की बात कही और नए निर्वाचित अध्यक्ष ने यह भी कहा है कि योगी हैं, जो मंदिर बनवा सकते हैं।

 अगर और कोई सरकार आई, तो मंदिर शायद नहीं बन सकेगा। योगी सर्वजन सुखाय-सर्वजन हिताय की बात करते हैं और सभी दल को लेकर चलते हैं।

इस दौरान नवनिर्वाचित अध्यक्ष रवींद्र पुरी महाराज ने कहा कि कोशिश रहेगी कि जिस तरह से ब्रह्मलीन महंत नरेंद्र गिरी ने अखाड़ों की परंपरा को आगे बढ़ाया, वे भी आगे ले जाने का प्रयास करेंगें। रवींद्र पुरी महराज ने कहा कि देश और प्रदेश की जो समस्याएं हैं। उसको दूर करने के लिए जिस तरह देश में मोदी और प्रदेश में योगी सरकार काम कर रही है। इसके लिए संत समाज उन्हें समर्थन देगा। जिससे देश विरोधी ताकतें अपना सिर न उठा सकें। इस बैठक में तेरह में सिर्फ सात अखाड़े सीधे शामिल हुए, जबकि एक अखाड़े के संत ने पत्र भेजकर समर्थन दिया।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget