विदेशी निवेशकों ने फिर दिखाया दम


नई दिल्‍ली

मंथली आधार पर शेयर बाजार में सितंबर में 2.73 फीसदी की तेजी दर्ज की गई। बाजार की इस तेजी में विदेशी निवेशकों का बहुत बड़ा योगदान है। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (FPI) ने सितंबर में भारतीय बाजारों में शुद्ध रूप से 26,517 करोड़ रुपए का निवेश किया है। यह लगातार दूसरा महीना है, जबकि FPI भारतीय बाजारों में शुद्ध लिवाल रहे हैं। 

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, FPI ने एक से 30 सितंबर के दौरान शेयरों में 13,154 करोड़ रुपए तथा ऋण या बॉन्ड बाजार में 13,363 करोड़ रुपए डाले। इस तरह उनका शुद्ध निवेश 26,517 करोड़ रुपए रहा। इससे पहले अप्रैल में FPI ने भारतीय बाजारों में 16,459 करोड़ रुपए का निवेश किया था। कोटक सिक्यॉरिटीज के कार्यकारी उपाध्यक्ष श्रीकांत चौहान ने कहा, ‘ज्यादातर प्रमुख उभरते बाजारों में FPI ने सितंबर माह में पूंजी डाली है। इस दौरान भारत में FPI का प्रवाह सबसे ऊंचा रहा।’ उन्होंने कहा कि इस दौरान दक्षिण कोरिया के बाजारों में FPI का निवेश 88.4 करोड़ डॉलर, थाइलैंड में 33.8 करोड़ डॉलर और इंडोनेशिया में 30.5 करोड़ डॉलर रहा। मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक (शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, ‘मौजूदा रुख से संकेत मिलता है कि FPI अब लघु अवधि की चुनौतियों से आगे देखने लगे हैं और उनका ध्यान वृहद रुख पर है।’ 

मई से बाजार में लगातार तेजी जारी है

मई से सितंबर तक लगातार पांच महीने से बाजार में तेजी जारी रही। साप्ताहिक आधार पर चार सप्ताह की लगातार तेजी पर इस सप्ताह विराम लग गया। सेंसेक्स में इस सप्ताह 0.42 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

आठ कंपनियों को 1.80 लाख करोड़ का नुकसान

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह 1,80,534.34 करोड़ रुपए की गिरावट आई। सबसे अधिक नुकसान में आईटी क्षेत्र की कंपनियां टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और इन्फोसिस रहीं। शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में सिर्फ रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारतीय स्टेट बैंक के बाजार पूंजीकरण में ही बढ़ोतरी हुई। बीते सप्ताह बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 1,282.89 अंक या 2.13 फीसदी टूट गया।



Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget