घाटे का ’बेस्ट’ बजट पेश


मुंबई

बेस्ट उपक्रम ने वर्ष 2022-23 के लिए 2,110 करोड़ 47 लाख रुपए का घाटे का बजट शुक्रवार को बेस्ट महाव्यवस्थापक लोकेश चंद्रा ने बेस्ट समिति अध्यक्ष आशीष चेंबूरकर ने  प्रस्तुत किया। बेस्ट का परिवहन विभाग पहले से ही घाटे में चल रहा था। अब बिजली विभाग भी घाटे में जा रहा है। एक समय बिजली विभाग ही बेस्ट के परिवहन के घाटे को दूर करता था। बिजली विभाग पहली बार 126 करोड़ एक लाख के घाटे में चला गया है। बेस्ट को वर्ष 2021-22 में भी 1,818 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था, जो अब बढ़कर 2100 करोड़ के पार हो गया। बेस्ट के अनुसार इस साल बेस्ट का कुल अनुमानित राजस्व 4,997.4 करोड़ रुपए और  खर्च 7,233.52 करोड़ रुपए होने का अनुमान जताया है। आय से अधिक खर्च होने के कारण बेस्ट को 2,236.48 करोड़ रुपए घाटा होने की जानकारी दी है। बजट में खर्च 3,562.14 करोड़ रुपए दिखाया गया है। इसमें परिवहन विभाग का घाटा 2,110 करोड़ 47 लाख रुपए दिखाया गया है। पिछले वर्ष मार्च से मुंबई में कोरोना का संकट चल रहा है, जिस कारण सरकार ने कुछ प्रतिबंध लगाए थे। करोड़ों लोगों की रोजगार छिन गया, नौकरियां चली गईं। अन्य कंपनियों की तरह बेस्ट को इसका सबसे बड़ा वित्तीय झटका लगा है। बेस्ट को बचाने के लिए मनपा अब तक तीन हजार 500 करोड़ रुपए दे चुकी है।

बेस्ट लेडीज स्पेशल

बेस्ट महाव्यवस्थापक लोकेश चंद्रा ने बेस्ट बजट में  महिलाओं के लिए विशेष बस सेवाएं शुरू करने के अलावा आपात स्थिति में मदद के लिए एक विशेष मोबाइल एप्लिकेशन विकसित करने की जानकारी दी है। बेस्ट ने इसके  लिए  2022-23 के बजट में विशेष प्रावधान किया है। विभिन्न कंपनियों, कॉल सेंटर और स्कूलों की मांग के अनुसार बेस्ट की बसें प्रदान की जाएंगी। राजस्व बढ़ाने के लिए बेस्ट प्रशासन नए विकल्प तलाश रहा है, इस तरह की जानकारी महाव्यवस्थापक ने बजट में कही है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget