चाय! जो ताजगी से भर दे


हमारे देश में ज्यादातर लोगों के दिन की शुरुआत एक प्याली चाय के साथ ही होती है। अगर आप भी उनमें से हैं तो आपको ये जानकर खुशी होगी की पारंपरिक चाय के अलावा भी चाय की ढ़ेरों वैराइटीज हैं जिनका टेस्ट आप ले सकते हैं। हर चाय अपने आप में अलग अंदाज की है और उसके गुण भी दूसरे से जुदा हैं। चाय के शौकीनों के लिए तो ये जानकारी सोने पर सुहागा हो सकती है। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक देश के अलग-अलग हिस्सों में पेय पदार्थ के तौर पर अलग-अलग तरह की चाय का मज़ा लिया जा सकता है। कई पेय ऐसे हैं जिन्हें चाय नहीं कह सकते हैं लेकिन उन्हें बनाने का तरीका लगभग चाय जैसा ही होता है। हम आपको चाय की ऐसी ही 10 वैराइटीज के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। इन सभी चाय का लुत्फ आप भी उठा सकते हैं। दिन की शुरुआत अलग-अलग वैराइटीज़ की चाय से की जा सकती है जो आपकी सेहत का ध्यान रखते हुए फ्रेशनेस देगी।

मसाला चाय 

मसाला चाय पारंपरिक चाय से अलग होती है। इसमें जड़ी बूटियों, लौंग और दालचीनी का इस्तेमाल किया जा सकता है। एक तरह से ये चाय सेहत को ध्यान में रखकर बनाई जाती है। इसमें असम के ममरी चाय के पौधों का इस्तेमाल भी किया जाता है।

ग्रीन टी 

अपने दिन की शुरुआत आप ग्रीन टी से भी कर सकते हैं। इसके मुख्य इन्ग्रेडिएंट्स आधा या एक चम्मच ग्री-टी पाउडर और एक चम्मच शहद होते हैं। सेहत के लिहाज से भी ग्रीन टी चाय का उपयोग काफी फायदेमंद होता है।

ईरानी चाय 

ईरानी चाय भी देश के कुछ हिस्सों में काफी फेमस है। यह चाय खास तौर पर हैदराबाद और पुणे में काफी मिलती है। वहां के लोग इसे काफी पसंद करते हैं। इसे बनाने का तरीका भी जुदा है।

तंदूरी चाय 

तंदूरी रोटी का स्वाद तो आपने जरूर लिया होगा, लेकिन क्या कभी तंदूरी चाय को टेस्ट किया है। तंदूरी चाय महाराष्ट्र के पुणे की एक अनोखी वैराइटी है। इसे तंदूर में बनाकर फिर कुल्हड़ में सर्व किया जाता है।

ब्लैक टी

चाय आमतौर पर बिना दूध के नहीं बनती है, लेकिन ब्लैक टी में दूध का बिल्कुल भी इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यह चाय काफी स्ट्रॉन्ग होती है। इसे बनाने में खासतौर पर असमी पौधों का इस्तेमाल होता है।

हर्बल टी 

हर्बल टी सेहत को बेहतर करने के लिए पी जाती है। जैसा कि इसके नाम से ही स्पष्ट होता है, इसे बनाने के लिए गर्म पानी में नींबू, धनिया बीज, काली मिर्च, दालचीनी, लौंग, अदरक आदि का प्रयोग किया जाता है।

नून चाय 

नून चाय कश्मीर में काफी फेमस है। इस चाय को समवार में बनाया जाता है। यह चाय कश्मीर की पारंपरिक चाय के तौर पर भी फेमस है। कश्मीर के साथ ही राजस्थान और नेपाल के कई क्षेत्रों में नून चाय मिल जाती है।

बटर टी 

यह चाय हिमालय क्षेत्र में रहने वाले लोगों द्वारा बनाई जाती है। भारत, नेपाल के हिमालयी क्षेत्र के लोग इसे याक के बटर, चाय की पत्तियों और नमक से तैयार करते हैं। यह नमकीन चाय होती है।

आइस टी 

आइस का इस्तेमाल चाय के लिए हो ये बात सुनने में थोड़ी अजीब सी लगती है, लेकिन आइस टी बनाने के लिए कुछ ऐसा ही किया जाता है। यह चाय हमारे देश में कई जगह पी जाती है। ये लेमन आइस टी के रुप में भी मिलती है।

लेमन ग्रास टी 

लेमन ग्रास टी भी शरीर के लिहाज से बहुत फायदेमंद होती है। इस चाय का स्वाद खट्टा होता है। इसके साथ ही यह शरीर को डिटॉक्सीफाई करती है, जिससे बॉडी हेल्दी रहती है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget