भारत और श्रीलंका की सेना ने दिखाई ताकत

जनरल नरवणे ने की तारीफ


कोलंबो

थल सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने भारत और श्रीलंका के बीच शुक्रवार को सैन्य अभ्यास का समापन कार्यक्रम देखा और उच्च मानक के प्रशिक्षण एवं पेशेवर रवैये के लिए दोनों दस्तों के सैनिकों की सराहना की। भारत और श्रीलंका ने पिछले हफ्ते द्वीप देश के पूर्वी जिले अम्पारा में ‘कॉम्बैट ट्रेनिंग स्कूल’ में आतंकवाद से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करने के मकसद से 12 दिवसीय व्यापक सैन्य अभ्यास शुरू किया था। सेना प्रमुख जनरल नरवणे उनके श्रीलंकाई समकक्ष जनरल शावेंद्र सिल्वा के आमंत्रण पर चार दिवसीय यात्रा पर मंगलवार को यहां पहुंचे थे। भारतीय थल सेना ने एक ट्वीट में कहा कि जनरल एमएम नरवणे ने श्रीलंका में विशेष बल प्रशिक्षण स्कूल में द्विपक्षीय अभ्यास मित्र शक्ति 21 का समापन कार्यक्रम देखा। इसने कहा कि चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ ने उच्च प्रशिक्षण मानक और पेशेवर रवैये के लिए दोनों पक्षों के सैनिकों की प्रशंसा की। ‘मित्र शक्ति’ अभ्यास का आठवां संस्करण कर्नल प्रकाश कुमार के नेतृत्व में 120 भारतीय सेना के जवानों के सभी शसस्त्र टुकड़ियों की भागीदारी के साथ चार अक्टूबर से शुरू होकर 15 अक्टूबर तक चला। श्रीलंका की सेना ने कहा कि संयुक्त सैन्य अभ्यास को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद, अंतर-संचालन कौशल, संयुक्त सामरिक संचालन, एक-दूसरे की सर्वोत्तम कार्यशैलियों और अनुभवों को साझा करने की समझ बढ़ाने के लिए तैयार किया गया।

 जनरल नरवणे ने श्रीलंकाई सेना की क्षमता निर्माण बढ़ाने और दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग को और बल देने के लिए भारत द्वारा उपहार में दी गई दो सिम्युलेटर सुविधाओं का उद्घाटन किया.


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget