नशे के लिए छात्र बन गए मोबाइल स्नैचर

शहर में घूम-घूम कर उड़ाते थे महंगे फोन

पटना

पत्रकार नगर थाने की पुलिस ने पटना सिटी के आलमगंज से लेकर कंकड़बाग तक घूम-घूम कर मोबाइल फोन स्नैचिंग करने वाले दो स्नैचरों को 90 फुट मौर्या अस्पताल के पास से गिरफ्तार कर लिया। इन दोनों के पास से छीने गये चार मोबाइल फोन व छिनतई करने में उपयोग की गयी बाइक को बरामद किया गया है। दोनों ही स्नातक के छात्र हैं और नशे के लिए पैसों की जरूरत ने इन्हें मोबाइल स्नैचर बना दिया। दोनों स्मैक के आदी हैं।

स्नैचरों में 20 वर्षीय राहुल कुमार (एनएमसीएच आइडीएच कॉलोनी, आलमगंज) व विशाल उर्फ रौशन (शीतला माता मंदिर, अगमकुआं) शामिल हैं। विशाल के पिता ठेकेदार हैं। इन लोगों के पास से जो चार मोबाइल फोन बरामद किये गये हैं, उनमें एक गोंडा निवासी राज सिंह से छीन लिया था।

एक ही दिन छीन लिए थे तीन मोबाइल फोन

दोनों स्नैचरों ने कुछ दिन पहले एक ही दिन में आलमगंज से लेकर कंकड़बाग तक तीन लोगों से मोबाइल फोन छीन लिये थे। इसे लेकर संबंधित थानों में मामला दर्ज किया गया था। 

पुलिस के समक्ष इन दोनों ने दो दर्जन से अधिक मोबाइल स्नैचिंग की घटनाओं में संलिप्तता को स्वीकार किया है।चोरी का फोन लाता था स्नैचर और दुकानदार तोड़ता था स्क्रीन लॉक कोतवाली थाने के डाकबंगला चौराहे पर स्थित हरिनिवास में स्थित एक मोबाइल दुकान में चोरी व छिनतई के मोबाइल फोन के लॉक को तोड़ दिया जाता था। इसका खुलासा उस समय हुआ जब पुलिस ने मोबाइल फोन स्नैचर दानिश (सुल्तानगंज) को डाकबंगला चौराहे के पटना वन मॉल के समीप से पकड़ लिया. दानिश की निशानदेही पर पुलिस टीम ने हरिनिवास के मोबाइल फोन दुकानदार वीरेंद्र कुमार (चौक) को गिरफ्तार कर लिया. वीरेंद्र कुमार चोरी व छिनतई के मोबाइल फोन के स्क्रीन लॉक को तोड़ कर उसे उपयोग में लाने लायक बना देता था।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget