जादू-टोना में अटकी पाक की सियासत


इस्‍लामाबाद

पाकिस्‍तान में प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख बाजवा के बीच चल रहा विवाद सुर्खियों में है। इसके साथ पाक की राजनीति में इन दिनों पिंकी पीरानी भी सुर्खियों में हैं। इस विवाद से उनको जोड़कर देखा जा रहा है। हालांकि, पिंकी पीरानी कोई राजनीतिज्ञ नहीं हैं, लेकिन उनकी चर्चा जोरों पर हैं। विपक्ष की जुबान पर भी पिंकी का नाम है। विपक्ष का आरोप है कि इमरान खान पिंकी के इशारे पर काम कर रहे हैं। विपक्षी नेता इशारे में इमरान पर जादू टोने की बात कर रहे हैं। आखिर ये पिंकी कौन है? पीएम इमरान के साथ इनका नाम क्‍यों जोड़ा जा रहा है? इमरान का सैन्‍य प्रमुख के साथ विवाद में उनका क्‍या हाथ है? इस समय पाकिस्तान के पीएम इमरान खान और सैन्‍य प्रमुख के बीच पाकिस्‍तान खुफिया एजेंसी के प्रमुख की नियुक्ति को लेकर जंग छिड़ी है। यह कहा जा रहा है कि इमरान ने आईएसआई के नियुक्ति को लेकर सेना प्रमुख से पंगा इसलिए लिया, क्योंकि पिंकी पीरनी ने उन्हें जनरल फैज हमीद को इस पद पर रखने के लिए कहा था। दरअसल, इमरान खान की बीवी बुशरा को ही पिंकी पीरनी कहा जाता है। पाकिस्तान के सियासी गलियारों में यह भी चर्चा है कि बिना बुशरा से पूछे इमरान कोई फैसला नहीं लेते। विपक्ष इसको लेकर कई तरह की दलीलें दे रहा है। पाकिस्‍तानी मीडिया भी इसको हवा दे रहा है। पिंकी इमरान की तीसरी पत्नी हैं। इसके पहले वह जैमिमा गोल्डस्मिथ और रेहम खान से शादी कर चुके हैं। पिंकी हमेशा बुर्के में रहती है। उनके पांच बच्‍चे हैं। यह कहा जाता है कि वह टोने टोटके और अंधविश्वास में गहरा यकीन रखती हैं और इमरान पर भी इसका प्रभाव साफ नजर आता है। पिछले दिनों पाकिस्‍तानी सोशल मीडिया पर दो खबरों ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा। पिछले हफ्ते जब आईएसआई चीफ की नियुक्ति के मामले में आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा और पीएम इमरान में ठनी हुई थी तभी यह खबर आई कि पाक सेना ने इमरान की बनी गली स्थित घर पर जाने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है। यह कहा जा रहा है कि ये लोग वहां जाकर आर्मी चीफ के लिए टोना टोटका करते थे।

दूसरे, सोशल मीडिया में यह खबर फैली कि पाक सेना ने जंगल से छह लोगों को गिरफ्तार किया है। यह कहा जा रहा है कि ये छह लोग कपड़े की गुड़िया में पिन चुभा रहे थे। इस घटना को भी एक तरह के जादू टोना के रूप में देखा जा रहा है। यह भी कहा जा रहा है कि यह पिंकी के इशारे पर किया गया है। तीसरे, इमरान खान पाकिस्‍तान के कथित परमाणु बम के जनक डा. अब्‍दूल कादिर खान के निधन के बाद उनके जनाजे में शामिल नहीं हुए।

 इस घटना को भी जादू टोने से जोड़कर देखा जा रहा है। इसमें भी पिंकी का नाम शामिल किया जा रहा है। यह कहा जा रहा है कि प‍िंकी के कहने पर इमरान डा अब्‍दूल कादिर खान के जनाजे में नहीं गए।

पाकिस्तान में मुख्य विपक्षी नेता मरियम नवाज ने पिंकी पीरनी का नाम लिए बगैर मीडिया के समक्ष कहा कि देश में यह कैसा वजीर-ए-आलम है, जो मुल्क में आम नियुक्तियों के लिए टोने-टोटके और भूत-प्रेत का सहारा लेता है। ऐसे में अगर पाकिस्तान का दुनिया में तमाशा बन रहा है तो इसमें हैरानी की बात नहीं। अगर जंतर मंत्र, भूत-प्रेत और जादू-टोना इतना ही कारगर है तो उसे देश की भलाई के इस्तेमाल में क्यों नहीं करते। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चीफ बिलावल भुट्टो जरदारी ने भी कहा है काश जादू टोने से ही कुछ हो जाता हमारे मुल्क में तीन-चार साल में इतने वित्‍त मंत्री बदल दिए गए। काश जादू टोना से देश का कल्‍याण हो जाता।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget