हवलदारों के आए अच्छे दिन..

45 हजार से अधिक पुलिसकमी बनेंगे सब इंस्पेक्टर


मुंबई 

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के हजारों पुलिस हवलदार (कांस्टेबल) के लिए एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को उस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी, जिसमें राज्य के कांस्टेबलों का पुलिस उपनिरीक्षक बनने का सपना पूरा होगा। लगातार सेवा में बने रहने के बावजूद कांस्टेबल पुलिस उपनिरीक्षक या अधिकारी पद पर नहीं पहुंचते थे, लेकिन अब अगले कुछ माह में तकरीबन 45 हजार कांस्टेबल, सहायक पुलिस निरीक्षक और पुलिस उपनिरीक्षक को सीधा लाभ होगा। विजयादशमी पर्व पर आई इस अच्छी खबर से हजारों कांस्टेबल के घर में खुशी का वातावरण है।

इस फैसले की वजह से पुलिस सिपाही वर्ग के हवलदारों को कम समय में प्रमोशन के तीन अवसर मिलेंगे और वे अधिकारी पद से रिटायर हो सकेंगे। पुलिस उपनिरीक्षक दर्जे की अधिकारियों की बड़ी संख्या होने से एक तरफ जहां अधिकारियों की जरूरत पूरी होगी, वहीं पुलिस बल में पुलिस हवलदार, सहायक पुलिस उपनिरीक्षक और जांच अमलदारों की संख्या में वृद्धि होगी।

गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल के मार्गदर्शन में पुलिस महासंचालक संजय पांडे के स्तर पर इस प्रस्ताव पर पिछले छह महीने से काम शुरु था। मुख्य सचिव सीताराम कुंटे की अध्यक्षता वाली हाईपावर कमेटी के इस प्रस्ताव पर मुहर लगाने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस संदर्भ में तत्काल कार्रवाई करने और शासन निर्णय जारी करने के आदेश दिए थे। इसके बाद शुक्रवार को यह प्रस्ताव मंजूर कर लिया गया।

पुलिस वालाें की बढ़ेगी कायक्षमता

इस प्रस्ताव को लाने का मकसद पुलिस सिपाही पद के व्यक्ति को पुलिस उपनिरीक्षक पद तक पहुंचाना और पुलिस के मनोबल को बढ़ाकर उनकी कार्यक्षमता में सुधार लाना है। इस निर्णय से प्रत्येक पुलिस थाने में आपराधिक गतिविधियों की जांच के लिए बड़ी संख्या में कांस्टेबल उपलब्ध होंगे और अपराधों की जांच के साथ-साथ दोषसिद्धि में भी काफी तेजी आएगी। इस निर्णय की वजह से अब पुलिस सिपाही औसतन 35 साल की सेवा में पुलिस उपनिरीक्षक या अधिकारी पद से रिटायर होंगे। पहले पुलिस सिपाही को आमतौर पर 12 से 15 साल में प्रमोशन मिलता था, ऐसे में उनका मनोबल कम होता था और इसका असर उनके कामकाज पर पड़ता दिखता था। आमतौर पर एक पद पर 10 साल के बाद प्रमोशन मिलना चाहिए, लेकिन अगली श्रेणी के पदों की संख्या कम होने से इसमें लंबा समय लगता था। पुलिस बल में फिलहाल 37861 पुलिस हवलदार हैं, जिनकी संख्या बढ़कर 51210 होगी और 15270 सहायक पुलिस उपनिरीक्षकों की संख्या बढ़कर 17071 होगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget