कश्मीर में आतंकियों को कुचलने की तैयारी


नई दिल्ली

केंद्र सरकार कश्मीर में मासूमों और अल्पसंख्यकों के बहे खून को बर्बाद नहीं जाने देगी। आतंकियों को इसकी कीमत चुकानी होगी। इसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इन हत्याओं के खिलाफ साफ निर्देश दे दिए हैं। केंद्र ने टॉप काउंटर-टेरर (CT) एक्सपर्ट्स की टीमें कश्मीर भेजी हैं। ये आतंकी हमलों में शामिल पाकिस्तान समर्थित स्थानीय मॉड्यूल को बेअसर करने में पुलिस की मदद करेंगी। आज जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा दिल्ली में अमित ​शाह से ​मुलाकात करेंगे। 

बीते दो दिनों में लश्कर-ए-तैयबा के समर्थन वाले द रे​जिमेंट्स फोर्स के आतंकियों ने श्रीनगर में एक कश्मीरी पंडित फार्मासिस्ट, स्कूल की प्रिंसिपल, शिक्षक और दो अन्य लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद गृह मंत्री शाह ने गुरुवार को कश्मीर पर पांच घंटे की मैराथन बैठक की। सुरक्षा एजेंसियों को अपने काउंटर-टेरर एक्सपर्ट्स को कश्मीर भेजने के लिए निर्देश दिए। अपराधियों को पकड़ने के लिए सख्ती से कहा। खुफिया ब्यूरो के काउंटर टेरर ऑपरेशन के प्रमुख तपन डेका घाटी में आतंकियों के खिलाफ लड़ाई की व्यक्तिगत रूप से निगरानी करने जा रहे हैं। वहीं अन्य राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियों की काउंटर टेरर टीमें जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद के लिए पहले ही कश्मीर पहुंच चुकी हैं।

आतंकी गुटों का बढ़ा हुआ है मनोबल

सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद पाकिस्तान में फल-फूल रहे आतंकी गुटों का मनोबल सातवें आसमान पर है। पाकिस्तान में नए आईएसआई चीफ लेफ्टिनेंट जनरल नदीम अंजुम की नियुक्ति के चलते भी इन समूहों का हौसला बढ़ा हुआ है। अफगानिस्तान में तालिबान की हुकूमत बनवाने के बाद पाकिस्तान का फोकस कश्मीर पर है। इसमें पहला मिशन अल्पसंख्यकों को घाटी में लौटने से रोकना है। आतंकी उन लोगों को टारगेट कर रहे हैं, जो कश्मीर लौटने का साहस दिखा रहे हैं।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget