सरकार ने रोकी परमबीर की सैलरी

भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया शुरू


मुंबई

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें भगौड़ा मानते हुए उनकी सैलरी पर रोक लगा दी है। बता दें कि एंटीलिया कांड में आरोप लगने के बाद परमबीर सिंह छुट्टी के नाम पर मुंबई से बाहर गए थे, लेकिन अब लापता हैं। परमबीर सिंह पर मुंबई, ठाणे में कई FIR दर्ज की गई हैं। पुलिस ने परमबीर सिंह को समन भेजा लकिन उसका भी उन्‍हें कोई जवाब नहीं मिला। ऐसे में अब राज्य सरकार परमबीर को भगोड़ा मान रही है। राज्य सरकार उनके निलंबन के संबंध में कार्रवाई का मन भी बना रही है।

ढूंढ़ने के लिए मांगी केंद्रीय एजेंसी की मदद

राज्‍य के गृह विभाग ने परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने का प्रस्ताव दिया है। गृह विभाग ने इंटेलिजेंस ब्यूरो को सूचित किया है कि अधिकारी का पता नहीं चल रहा है और उसे खोजने के लिए केंद्रीय एजेंसी की मदद भी मांगी है। दरअसल, महाराष्ट्र गृह विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने की कानूनी प्रक्रिया शुरू हो गई है, जहां विभाग ने कानूनी औपचारिकताओं का पालन करते हुए प्रस्ताव को फुलप्रूफ बनाने के लिए कानूनी राय मांगी है। वहीं, इस साल बीते मई से लापता होने के बाद सरकार ने पहले ही अधिकारी को सस्पेंड करने का प्रस्ताव दिया था। इसके बाद से ही गृह विभाग ने उनके खिलाफ एंटीलिया विस्फोटक मामले में चूक के लिए विभागीय जांच की कार्रवाई भी शुरू कर दी है। गौरतलब है कि बीते मई के महीने से परमबीर सिंह स्वास्थ्य कारणों से छुट्टी पर जाने के बाद से ही लापता हैं। ऐसे में गृह विभाग ने सिंह को उनके चंडीगढ़ स्थित आवास पर कई पत्र भेजे और उनके ठिकाने के बारे में पूछताछ भी की गई, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। वहीं, पिछले महीने, गृह मंत्री दिलीप वालसे पाटिल ने कहा था कि वे IPS अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए अखिल भारतीय सेवा नियमों के प्रावधानों को देख रहे हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget