जिला परिषद उपचुनाव में भाजपा नंबर वन

85 में से 22 सीटों पर खिला कमल


मुंबई

राज्य के 6 जिलों में 5 अक्टूबर को हुए जिला परिषद और पंचायत समितियों के उपचुनाव के नतीजे बुधवार को घोषित किए गए। जिला परिषद उपचुनाव में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। भाजपा ने जिला परिषद की रिक्त 85 सीटों में से 22 सीटों पर जीत हासिल की है, जबकि कांग्रेस को 19, राकांपा को 15 तथा शिवसेना को 12 तथा अन्य को 16 सीटें मिली हैं। वहीं पंचायत समितियों की रिक्त 144 सीटों में से कांग्रेस का पलड़ा भारी रहा। कांग्रेस ने 36, भाजपा ने 33, शिवसेना ने 23, राकांपा ने 18 और अन्य ने सबसे अधिक 34 सीटों पर जीत हासिल की। इस उपचुनाव को मिनी विधानसभा चुनाव समझा जा रहा था।  

चुनाव परिणाम पर किसने, क्या कहा?

उपचुनाव में भाजपा नंबर वन पार्टी रही। यह चुनाव स्थानीय नेतृत्व के तहत लड़ा गया, हम प्रचार करने भी नहीं गए, तब भी जनता ने हमें सबसे बड़े दल के रूप में चुना। शिवसेना अब चौथे नंबर की पार्टी बन गई है।

- देवेंद्र फड़नवीस, 

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष  

जिला परिषद उपचुनाव में मिली सफलता कार्यकर्ताओं की मेहनत का फल है। यह तो अभी शुरुआत है। कांग्रेस को खत्म करने का विचार करने वालों को जनता ने खरा उत्तर दिया है।

- नाना पटोले, 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  

जिला परिषद उपचुनाव में भाजपा पहले नंबर पर कायम है। इसके लिए मतदाताओं और कार्यकर्ताओं का अभिनंदन। आघाड़ी के सत्ता का भरपूर उपयोग करने के बावजूद जनता ने भाजपा को पसंद किया।

-चंद्रकांत पाटिल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष    

भाजपा के विचारों को जनता ने नकार दिया है, यह इस चुनाव परिणाम में दिखता है। अगले चुनावों में जनता के मत महाविकास आघाड़ी के पक्ष में पड़ेंगे।

- जयंत पाटिल, प्रदेश राकांपा अध्यक्ष


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget