मजदूरों के शव पहुंचे अररिया

अररिया

कश्मीर में आतंकी हमले के शिकार हुए दो मजदूरों का पार्थिव शरीर बुधवार सुबह उनके पैतृक गांव लाया गया। दोनों के शव को कश्मीर से हवाई मार्ग से पटना लाया गया, फिर सड़क मार्ग से रानीगंज पहुंचा और श्रम अधीक्षक निखिल रंजन ने राजा ऋषिदेव के शव को परिजनों को सौंपा। इसके बाद अररिया प्रखंड के बनगामा के खैरुगंज में योगेन्द्र ऋषिदेव का शव परिजनों को सौंपा गया। शव को देखते ही परिजन फफक पड़े। ग्रामीण कश्मीर में काम की तलाश में गए गांव के अन्य युवकों की सलामती की दुआ कर रहे हैं। सांसद प्रदीप कुमार सिंह, पूर्व सांसद पप्पू यादव समेत ग्रामीण जनप्रतिनिधि और सामाजिक कार्यकर्ता पीड़ित परिवार से मिले और दर्द बांटा। केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह भी गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार से मिलने वाले हैं।

 मृतक योगेन्द्र ऋषिदेव की बहन जया देवी ने कहा की यहां पर कोई रोजगार नहीं था और रोजगार की तलाश में योगेंद्र अपने साथियों के साथ दूसरे प्रदेश में कमाने के लिए गया हुआ था। बच्चों को पढ़ाने-लिखाने और परिवार के भरण-पोषण के लिए वह दूसरे प्रदेश गया हुआ था। उन्होंने ठेकेदार ब्रह्मा नाम के युवक पर गांव से मजदूरों को काम के लिए ले जाने की बात कही और कहा कि छह महीना से काम कराने के बावजूद पैसे नहीं दे रहे थे और पैसे मांगने पर मारपीट और प्रताड़ित किया जाता था।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget