मंदिर की प्रतिकृति के लिए लोढ़ा ने लगाइ बोली

मुंबई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मिले  अयोध्या स्थित भगवान राम मंदिर की प्रतिकृति सहित अन्य यादगार उपहारों की ई-नीलामी 17 सप्टेंबर से 7 ऑक्टोबर तक आयोजित किया गया है,जिसमे राम मंदिर के  मॉडल खरीदने के लिए इसकी 51 लाख रुपए की बोली मुंबई भाजपा अध्यक्ष मंगल प्रभात लोढ़ा  ने लगाई है। प्रधानमंत्री के उपहारों की शुरू  ई -नीलामी  अभियान में अपनी सहभागिता निभाते हुए लोढ़ा द्वारा लगाई गई मॉडल की 51 लाख रुपए की बोली अब तक सबसे अधिक बोली है। अयोध्या राम मंदिर की यह प्रतिकृति लकड़ी की बनी है, जिसकी लंबाई - 68 (सेमी), चौड़ाई - 52 (सेमी), ऊंचाई - 53 (सेमी), वजन - 23 (किलो) है।  मंगल प्रभात लोढ़ा ने बताया की  पीएम  मोदी  ने ई-नीलामी के माध्यम से हम सभी को देश की सेवा में अपना योगदान करने का एक और अवसर प्रदान किया है, इसके लिए हम उनका  धन्यवाद करते है। विश्वगुरू की तरफ  बढ़ते भारत के युगपुरूष  मोदी को मिला यह भेंट हमारे घर में आने के बाद एक ऐतिहासिक धरोहर बन जाएगी। साथ ही भारत की आर्थिक राजधानी उनके पीछे खड़ी है, यह संदेश विश्व भर में जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी को मिले उपहार के रूप में  टोक्यो ऑलिम्पिक 2020 और टोक्यो पॅरालिंपिक खेलों के विजेताओं  के साथ -साथ  दिलचस्प कलाकृतियों में अयोध्या राम मंदिर की प्रतिकृति, चारधाम, रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर, मॉडल, मूर्तियां, पेंटिंग और अंगवस्त्र शामिल हैं।  इस चरण में, लगभग 1330 स्मृति चिन्हों की ई-नीलामी की जा रही है। लोढ़ा ने बताया कि उपहारों  की नीलामी से आने वाले रकम को  गंगा नदी के संरक्षण और कायाकल्प के उद्देश्य से नमामि गंगे अभियान को प्रदान की जाएगी।  मोदी भारत के पहले प्रधान मंत्री हैं, जिन्होंने “नमामि गंगे” के माध्यम से देश की जीवन रेखा - गंगा नदी के संरक्षण के नेक काम के लिए मिलने वाले सभी उपहारों को नीलाम करने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री ने अक्सर गंगा को देश की सांस्कृतिक गौरव और आस्था के प्रतीक के रूप में वर्णित किया है।

Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget