कारगिल युद्ध पर कांग्रेस प्रत्याशी का विवादित बयान

कोई बड़ी जंग नहीं थी, केवल पाकिस्तानियों को हटाने का किया काम


शिमला

हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव की सरगर्मियों के बीच कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह ने कारगिल युद्ध पर विवादित बयान दिया है। मंडी संसदीय सीट से कांग्रेस की प्रत्याशी प्रतिभा सिंह ने कहा कि कारगिल युद्ध कोई बड़ा युद्ध नहीं था। हमारी जमीन पर पाकिस्तानियों ने कब्जा किया था, जिन्हें हटाने का काम किया गया। उसमें किसी ने भाग लिया हो तो वह भी कोई बड़ी बात नहीं थी। कारगिल युद्ध छोटी लड़ाई थी। मंडी जिला के नाचन में नांडी गांव में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने यह बयान दिया। प्रतिभा सिंह ने कहा कि भाजपा ने अपना टिकट एक पूर्व फौजी को दिया है, क्योंकि उन्होंने कारगिल युद्ध में भाग लिया था, लेकिन कारगिल युद्ध कोई बड़ा युद्ध नहीं था। सिर्फ अपनी धरती से ही पाकिस्तानियों को खदेड़ा था। लेकिन खुशहाल ठाकुर को ऐसे पेश किया जा रहा है, जैसे वह बहुत बड़े सैनिक रहे हों और विजय हासिल की हो। भाजपा यह सब सिर्फ इसलिए कर रही है, ताकि सैनिकों, पूर्व सैनिकों और परिजन के वोट हासिल कर सकें। जनता ने सोच-समझकर विकास के नाम पर अपनी मोहर लगानी है। प्रतिभा सिंह ने भाजपा पर कारगिल युद्ध पर राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भाजपा के प्रत्याशी को कारगिल युद्ध का मुख्य हीरो बताते हुए प्रचारित कर रहे हैं। 

कारगिल युद्ध के नाम पर भाजपा इस चुनाव में सेना के पराक्रम को अपनी जीत बता कर उनकी भावनाओं से खेल रही है। वहीं उनके बयान के बाद भाजपा को चुनावी मुद्दा मिल गया है। भाजपा का कहना है कि कांग्रेस सैनिकों का अपमान कर रही है और भाजपा यह अपमान नहीं सहेगी। इसका कड़ा विरोध किया जाएगा। प्रतिभा सिंह ने मामले को लेकर स्पष्ट किया है कि उन्होंने कारगिल योद्धाओं पर कोई टिप्पणी नहीं की है। उन्होंने केवल इतना कहा कि यह युद्ध भाजपा सरकार की विफलता का परिणाम था, जिसमें हमारे जवान शहीद हुए। मीडिया में उनके खिलाफ इसको लेकर दुष्प्रचार किया जा रहा है, जो सही नहीं है। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता विनोद ठाकुर ने कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हिमाचल वीरभूमि है। सैनिकों की भूमि है। भाजपा इसका अपमान नहीं सहेगी। आश्चर्य इस बात की है कि कांग्रेस की मंडी संसदीय क्षेत्र की प्रत्याशी प्रतिभा सिंह कहती हैं कि कारगिल युद्ध, युद्ध नहीं था। कारगिल युद्ध में 527 वीर जवान शहीद हुए थे, जिनमें 52 हिमाचल प्रदेश के जवान थे। वोटों के लिए कांग्रेस पार्टी इतना गिर गई है कि उनकी शहादत का ही अपमान कर दिया। कैप्टन विक्रम बत्रा, मेजर सोमनाथ शर्मा, मेजर धन सिंह थापा और राइफलमैन संजय कुमार को परमवीर चक्र मिलने पर हम इन सैनिकों का नमन करते हैं। ब्रिगेडियर खुशहाल सिंह ठाकुर सच्चे सैनिक हैं, जिन्होंने कारगिल युद्ध में मां भारती की सेवा की।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget