नेशनल पार्क में बसे आदिवासियों का हो पुनर्वसन

मुंबई

बोरीवली पूर्व स्थित संजय गांधी राष्ट्रीय उद्यान (नेशनल पार्क) के पाड़ों में बसे आदिवासियों और पात्र झोपड़धारकों के पुनर्वसन के लिए मुख्यमंत्री उध्दव ठाकरे ने संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया। गुरुवार को सह्याद्रि अतिथि गृह में सीएम की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासियों और पात्र झोपड़धारकों के पुनर्वसन के लिए वैकल्पिक जगह की तलाश के लिए राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया जाए।

इसके साथ वन विभाग के अधिकारियों को सीएम ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि पुनर्वसन के बाद वहां दोबारा किसी को न बसने दिया जाए और न ही अतिक्रमण करने दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि नेशनल पार्क में रहने वाले आदिवासियों और झोपड़धारकों के लिए तत्काल भूमि की तलाश किया जाए। क्योंकि आरे में 90 एकड़ भूमि परिवारों के पुनर्वसन के लिए उपयुक्त नहीं है। बैठक में उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे, सांसद गजानन कीर्तिकर, भाजपा सांसद मनोज कोटक, सांसद राजन विचारे, पूर्व विधान परिषद सदस्य विद्या चव्हाण, विधायक सुनील प्रभु, मागाठाणे के विधायक प्रकाश सुर्वे, विधायक रविंद्र वायकर, मिहिर कोटेचा, गीता जैन, मुख्य सचिव सीताराम कुंटे, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह, प्रमुख सचिव विकास खरगे, वन विभाग के प्रमुख सचिव वेणुगोपाल रेड्डी, आवास विभाग के प्रमुख सचिव मिलिंद म्हैस्कर, प्रधान मुख्य वन संरक्षक सुनील लिमये, म्हाडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अनिल दिग्गीकर, स्लम पुनर्वास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सतीश लोखंडे, मनपा के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी तथा संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने वन, आदिवासी, शहरी विकास, आवास, पदुम समेत सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को भी इस समिति में शामिल करने के निर्देश दिया।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget