ओशिवरा में बना पर्यावरण अनुकूल गार्डेन

कचरे से किया गया तैयार


मुंबई

कोरोना में स्वच्छ हवा और पर्यावरण का महत्व बढ़ गया है। मनपा ने भी इसे ध्यान में रखते हुए मुंबई में अधिक से अधिक गार्डेन विकसित करने पर जोर दिया है। मनपा ने ओशिवारा में 2,600 वर्ग मीटर का गार्डेन बनाया है। जिसमे फेके गए कचरे से  पौधों को उपजाया गया है और गार्डेन को शोभनीय बनाने के लिए प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल कर आकर्षक रंग-बिरंगी दीवारें आदि बनाया गया है जो की पर्यटकों को पसंद आ रहे हैं। मनपा द्वारा विभिन्न स्थानों पर गार्डेन बनाये जा रहे हैं। ओशिवारा में 2,600 वर्ग मीटर का गार्डेन बनाया गया है। इस गार्डेन में वरिष्ठ नागरिकों के साथ-साथ बच्चों के लिए भी विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। गार्डेन को शोभनीय बनाने के लिए कचरे से टिकाऊ और सौंदर्यता का निखार आये इस तरह का पुराने कचरे का  इस्तेमाल किया गया है। वर्तमान में हर दिन करीब 500 पर्यटक वहां आते हैं। गार्डेन में कार्यरत कर्मचारियों ने पुराने टायर, प्लास्टिक की बोतलें, गिरे हुए पेड़ के तने आदि की आकर्षक कलाकृतियां बनाई हैं। जिस पर मनपा कोई अतिरिक्त लागत नहीं लगी। पार्क के कर्मचारियों ने गैरेज सहित अन्य स्थानों से कचरे का उचित उपयोग किया है। मनपा के पश्चिम वार्ड के सहायक आयुक्त पृथ्वीराज चौहान ने कहा कि इस गार्डेन का निर्माण का निर्माण नो प्रॉफिट नो लॉस’ पर किया गया  है। मनपा का इस गार्डन के निर्माण पर मनपा कोई खर्च नहीं हुआ है। 

मनपा गार्डेन विभाग के अधीक्षक जितेंद्र परदेशी ने कहा कि प्रायोगिक आधार पर निर्माण किया गया है, यह प्रयोग सफल होने के बाद ला शहर के अन्य पार्कों के विकास में भी लागू किया जाएगा। ओशिवारा गार्डन का निर्माण अभी तक पूरा नहीं हो पाया है, जिसके चलते अभी तक गार्डन का नाम नहीं दिया गया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget