दुनिया की सबसे बड़ी सैन्य शक्ति बनेगा भारत: मोदी


नई दिल्ली

दशहरे के दिन भारत में शस्त्रपूजन की परंपरा रही है और इस मौके पर पीएम नरेंद्र मोदीने देश को 7 डिफेंस कंपनियां समर्पित कीहैं। रक्षा उपकरणों, हथियारों और वाहनों के निर्माण के लिए बनीं 7 नई कंपनियों कीलॉन्चिंग के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदीने कहा किहमें देश को हथियारों एवं रक्षा उपकरणों के मामले में आत्मनिर्भर बनाना है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश को सबसे बड़ी मिलिट्री पावर बनाने का लक्ष्य तय किया है। इन कंपनियों के जरिए देश को हथियार, सैन्यवाहन, उपकरण एवं उन्नत तकनीक हासिल हो सकेगी। 

उन्होंने कहा कि हमने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत इन कंपनियों को मजबूती प्रदान करने के लिए पहले ही 65,000 करो ड़रुपये के ऑर्डर दिए हैं। उन्होंने कहा कि उत्पादों कीबेहतर कीमत हमारी ताकत और क्वालिटी हमारी छविको मजबूत करेगी। इसके साथही उन्होंने रक्षा क्षेत्रमें अनुसंधान का महत्व बताया। पीएम नरेंद्र मोदीने कहा, 'रिसर्च और इनोवेशन से देश की परिभाषा तय होती है। यह भारत की ग्रोथका सबसे अहम उदाहरण है। उन्होंने कहा किहमें इनोवेटर्सको पूरी आजादी देनी होगी ताकि वे देश के लिए नए-नए आविष्कार कर सकें।' 

पीएम नरेंद्र मोदीने कहा कि हमारा लक्ष्यदूसरे देशों के मुकाबले बराबरीपर आने का नहीं है बल्कि दुनिया में नेतृत्वकरने का है। उन्होंने अपनी सरकार के दौर में हथियारों के आयात में कमी और एक्सपोर्ट बढ़ने का भी जिक्र किया। पीएम मोदीने कहा कि बीते 5 सालों में भारत का डिफेंस एक्सपोर्ट 315 फीसदीकी गतिसे आगे बढ़ाहै। नरेंद्र मोदीने कहा, 'मैं इन सभी7 कंपनियों से अपीलकरता हूं किवे रिसर्चऔर इनोवेशन को अपने वर्क कल्चर में बढ़ावा दें। आपको फ्यूचर टेक्नोलॉजीमें लीड करना होगा और रिसर्चर्सको मौके देने होंगे। मैं देश के स्टार्टअप्ससे भीअपील करूंगा किवे इन सातों कंपनियों के साथमिलकर काम करें। 


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget