मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ा

तीन दिन में डेंगू के 110, एच1एन1 के 8, गैस्ट्रो के 488 मरीज मिले


मुंबई

मुंबई में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के बढ़ते मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। हालांकि इन बीमारियों से निपटने के लिए मुंबई मनपा ने अभियान छेड़ रखा है, लेकिन पिछले वर्षों की तुलना में इस साल मौसमी बीमारियों के मरीज बढ़ रहे हैं। मुंबई मनपा से मिली जानकारी के अनुसार सितंबर महीने में मलेरिया के 607 मरीज अस्पतालों में भर्ती हुए थे। मगर अक्टूबर में पिछले तीन दिनों पर गौर करें तो सोमवार को 536 मंगलवार को 453 और बुधवार को 169 मलेरिया के मरीज पाए गए। सितंबर में डेंगू के 257 मरीज मिले थे। उपरोक्त तीन दिनों में डेंगू के 110 मरीज मिले हैं। गैस्ट्रो के सितंबर महीने में 245 मरीज पाए गए थे, जबकि बीते 3 दिनों में 488 गैस्ट्रो के मरीज मिले हैं। पिछले महीने हेपेटाइटिस के 28 मरीज अस्पतालों में भर्ती हुए थे। इसकी तुलना में पिछले तीन दिनों में 111 मरीज हेपेटाइटिस के मिले हैं। चिकनगुनिया के पिछले महीने में 7 मरीज पाए गए थे, बीते तीन दिनों में 15 मरीज मिले हैं। इसी तरह पिछले सितंबर महीने में एच1एन1 के 9 मामले सामने आए थे, बीते तीन दिनों में एच1एन1 के 8 मरीज मिले हैं।

पिछले दो वर्ष की तुलना करें तो वर्ष 2019 में मलेरिया के 4357, वर्ष 2020 में 5007 मामले सामने आए थे। इस वर्ष 2021 में 1 जनवरी से लेकर 10 अक्टूबर तक 4172 मलेरिया के मरीज मिले हैं। लेप्टोस्पायरोसिस के वर्ष 2019 में 281 और वर्ष 2020 में 240 मरीज मिले थे। इस साल 1 जनवरी 10 अक्टूबर तक 196 मामले सामने आए हैं। वर्ष 2019 में डेंगू के 920, वर्ष 2020 में 129 मामले सामने आए थे। इस साल 1 जनवरी से 10 अक्टूबर तक डेंगू के 573 मरीज मिले हैं। इसी तरह गैस्ट्रो के वर्ष 2019 में 7785 मामले आए थे। वर्ष 2020 में यह आंकड़ा 2549 रहा। इस साल 1 जनवरी 10 अक्टूबर तक गैस्ट्रो के 2190 मामले मुंबई में सामने आए हैं। हेपेटाइटिस के वर्ष 2019 में 1534 मरीज मिले थे वर्ष 2000 में 263 और इस साल 1 जनवरी 10 अक्टूबर तक 206 मरीज हेपेटाइटिस के मिले हैं। चिकनगुनिया की स्थिति वर्ष 2019 और 2020 में शुन्य रही। इस साल चिकनगुनिया के अब तक 30 मरीज मिले हैं। स्वाइन फ्लू (एच1एन1) के वर्ष 2019 में 451 वर्ष 2020 में 44 और इस साल अब तक 59 मामले सामने आ चुके हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget