'BSF का अधिकार बढ़ाने के फैसले को वापस ले केंद्र


चंडीगढ़

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का अधिकार क्षेत्र बढ़ाने के फैसले पर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सोमवार को केंद्र की आलोचना की और इस फैसले को वापस लेने के लिए कहा। केंद्र द्वारा बीएसएफ के अधिकारों में इजाफे को लेकर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री चन्नी ने कहा कि सभी दलों ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया है कि इस अधिसूचना को (केंद्र सरकार द्वारा) वापस लिया जाए। अगर सरकार ऐसा नहीं करती है, तो सभी पार्टियों ने फैसला किया कि इस पर विधानसभा का सत्र बुलाया जाए। सीएम चन्नी ने केंद्र के इस फैसले को देश के संघीय ढांचे में राज्य के अधिकारों पर छापा करार दिया और कहा कि प्रदेश की सभी पार्टियां इसके खिलाफ एकजुट हैं। उन्होंने कहा कि चूंकि यह पंजाब और पंजाबियों से संबंधित मामला है, कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है और यह संघीय ढांचे में हमारे अधिकारों पर छापे की तरह है, पंजाब में सभी राजनीतिक दल केंद्र से अधिसूचना वापस लेने की लड़ाई में एक साथ आएंगे। मुख्यमंत्री चन्नी ने आगे कहा कि पंजाब में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र के विस्तार के खिलाफ राजनीतिक दल आंदोलन करेंगे। हम इस मामले में न्याय के लिए सुप्रीम कोर्ट का भी दरवाजा खटखटाएंगे। 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की अधिसूचना (बीएसएफ क्षेत्राधिकार का विस्तार) और तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने के लिए अगले 10-15 दिनों में पंजाब विधानसभा का एक सत्र बुलाया जाएगा. गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) कानून में संशोधन कर इसे पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से मौजूदा 15 किलोमीटर की जगह 50 किलोमीटर के बड़े क्षेत्र में तलाशी लेने, जब्ती करने और गिरफ्तार करने की शक्ति दे दी है.


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget