DC की नजर लगातार दूसरे फाइनल पर

सामने 8 बार की फाइनलिस्ट CSK की चुनौती


दुबई

बड़े मैचों में खेलने का अपार अनुभव रखने वाले खिलाड़ियों के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की टीम इंडियन प्रीमियर लीग के रविवार को यहां होने वाले पहले क्वालीफायर में दिल्ली कैपिटल्स (DC) के खिलाफ जीत के मजबूत दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी। मैच भारतीय समयानुसार शाम सात बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा। दिल्ली की टीम लीग में 20 अंक लेकर सबसे ऊपर रही और जिससे उनके प्रदर्शन में निरंतरता का पता चलता है। चेन्नई ने पिछले साल चूकने के बाद फिर से प्लेऑफ में जगह बनाई है। उसने जिन 12 आईपीएल में हिस्सा लिया है, उनमें से 11 बार उसकी टीम प्लेऑफ में पहुंची है।

दिल्ली को भी अपना पिछला मैच गंवाना पड़ा। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के कोना भरत ने अंतिम गेंद पर छक्का जड़कर दिल्ली को इस मैच में झटका दिया था। इससे उनकी स्थिति पर असर नहीं पड़ा, लेकिन उसका आत्मविश्वास जरूर डिगा होगा।

चेन्नई अब तक आठ बार फाइनल में जगह बना चुका है, जिनमें से तीन बार वह चैंपियन बना है। इससे पता चलता है कि टीम जरूरत के समय में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की क्षमता रखती है। चेन्नई अपने उम्रदराज अनुभवी खिलाड़ियों पर विश्वास करती रही है और अपनी टीम में अधिक फेरबदल भी नहीं करती। रुतुराज गायकवाड़ अपवाद कहे जा सकते हैं, जिनके बारे में यह कहा जा सकता है कि वह पिछले एक दशक में चेन्नई सुपर किंग्स की पहली देन हैं।

धोनी टीम में बहुत ज्यादा फेरबदल नहीं करेंगे

धोनी का सिद्धांत स्पष्ट है जो आजमाये जा चुके हैं, जिन्हें अनुभव है उन पर भरोसा रखो और यही वजह है कि उनकी टीम में रविंद्र जडेजा, अंबाती रायुडु, सुरेश रैना, ड्वेन ब्रावो और फाफ डुप्लेसी जैसे खिलाड़ी हैं. इनके अलावा जोश हेजलवुड और मोईन अली जैसे अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हैं और पूर्व भारतीय कप्तान धोनी को पता है कि वह किस तरह का संयोजन चाहते हैं।

धोनी जानते हैं कि वह लंबे समय से अच्छी फॉर्म में नहीं हैं, उन्होंने 14 मैचों में केवल 96 रन बनाये। आईपीएल के दिग्गज सुरेश रैना भी 12 मैचों में 160 रन ही बना पाये लेकिन उनके पास गायकवाड़ (533 रन) और डुप्लेसिस (546 रन) जैसे बल्लेबाज है, जिन्होंने टीम को अक्सर ठोस शुरुआत दिलायी है। आखिरी ओवरों में जडेजा (227) अपनी बल्लेबाजी का कमाल दिखाते रहे हैं।

ब्रावो धोनी के लिए ट्रंप कार्ड साबित हो सकते

इसी तरह से शार्दुल ठाकुर (14 मैचों में 18 विकेट) गेंदबाजी में कमाल दिखा रहे है, लेकिन ड्वेन ब्रावो (12 विकेट) हमेशा की तरह उपयोगी योगदान देने के लिये तत्पर रहते हैं। हेजलवुड फॉर्म हासिल नहीं कर पाये थे लेकिन धोनी ने उन पर भरोसा बनाये रखा।

टीमें इस प्रकार हैं 

 चेन्नई सुपर किंग्स

महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान), सुरेश रैना, अंबाती रायुडु, केएम आसिफ, दीपक चाहर, ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस, इमरान ताहिर, एन जगदीसन, कर्ण शर्मा, लुंगी एनगिडी, मिशेल सेंटनर, रविंद्र जडेजा, रुतुराज गायकवाड़ , शार्दुल ठाकुर, आर साई किशोर, मोईन अली, के गौतम, चेतेश्वर पुजारा, हरिशंकर रेड्डी, भगत वर्मा, सी हरि निशांत।

दिल्ली कैपिटल्स 

ऋषभ पंत (कप्तान), अजिंक्य रहाणे, पृथ्वी सॉव, रिपल पटेल, शिखर धवन, शिमरोम हेटमायर, श्रेयस अय्यर, स्टीव स्मिथ, अमित मिश्रा, एनरिक नोर्किया, अवेश खान, बेन ड्वारशुइस, इशांत शर्मा, कैगिसो रबाडा, कुलवंत खेजरोलिया, लुकमान मेरीवाला, प्रवीण दुबे, टॉम कुरेन, उमेश यादव, अक्षर पटेल, ललित यादव, मार्कस स्टोइनिस, रविचंद्रन अश्विन, सैम बिलिंग्स और विष्णु विनोद।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget