भारत-चीन में व्यापार 100 अरब डॉलर के पार

port

नई दिल्ली

भारत और चीन के बीच जारी सैन्य गतिरोध के बावजूद, इस साल अक्टूबर में भारत-चीन व्यापार 100 अरब डॉलर का आंकड़ा पार कर गया। यह जानकारी चीन के सामान्य सीमा शुल्क प्रशासन (जीएसी) द्वारा जारी आंकड़ों के जरिये आई है। एक खबर के मुताबिक जीएसी के आंकड़ों से पता चलता है कि पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 22.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए भारत और चीन के बीच कुल व्यापार मात्रा 102.29 अरब डॉलर थी। भारत को चीन का निर्यात 78.33 अरब डॉलर था, जबकि भारत ने चीन को 23.96 अरब डॉलर का सामान निर्यात किया। 

दोनों देश सुरक्षा के मुद्दों पर एक-दूसरे के खिलाफ हैं, उनकी अर्थव्यवस्थाएं पूरकता दिखा रही हैं, क्योंकि चीन जीडीपी में नंबर एक स्थान पर है और भारत तीसरे स्थान पर है, जिसमें अमेरिका बीच में है। चीन 2030 तक दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा, जबकि भारत 2050 तक तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था। वर्तमान में, चीन दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और भारत पांचवें स्थान पर है। चीन को भारत का निर्यात मुख्य रूप से लौह अयस्क, कपास और वस्तुओं का होता है, जबकि भारत बड़े पैमाने पर यांत्रिक और विद्युत मशीनरी और मेडिकल सप्लाई का आयात करता है।पिछले महीने कुछ अच्छी खबर आई, जब चीन ने भारत से पहली कैंसर रोधी दवा की अनुमति दी। भारतीय फार्मा कंपनियों ने वास्तविक प्रवेश के लिए तीन साल तक इंतजार किया है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget