13 लाख मीट्रिक टन साइलो गोदाम निर्माण की अनुमति

पटना

केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन तथा उपभोक्ता मामले खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि आम लोगों की खाद सुरक्षा, किसानों के अत्यधिक कल्याण और आत्मनिर्भर भारत के लिए सभी महत्वपूर्ण कदम उठाए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत बिहार में खाद्य भंडारण क्षमता 10.50 लाख मीट्रिक टन हो गया, जो 2015 में 5.5 एलएमटी था। राज्य में 13 लाख मीट्रिक टन साइलो गोदाम निर्माण की अनुमति मिली है। वे रविवार को आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत खाद्य आपूर्ति एवं जन वितरण विभाग (डीएफपीडी) के खाद्य सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम में पटना के अधिवेशन भवन में मुख्य अतिथि के तौर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि स्वामिथन कमेटी लागू कर हम लागत के डेढ़ गुना ज्यादा न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तय कर खरीदारी कर रहे है। वर्ष 2024 तक सभी लाभकारी योजनाओं के तहत फोर्टीफाइड राइस का वितरण किया जाएगा। वर्ष 2021-22 में केंद्र सरकार ने बिहार सरकार के साथ मिलकर 30 लाख मीट्रिक टन चावल अधिप्राप्ति का लक्ष्य रखा है। बिहार में राज्य सरकार ने केएमएस 20-21 में 23.84 लाख मैट्रिक टन चावल की अधिप्राप्ति किया तथा आरएमएस 2021-22 में 4.55 लाख मीट्रिक टन गेहूं का अधिप्राप्ति किया गया।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget