कस्टम विभाग ने हार्दिक पांड्या की घड़ियों की कीमत बतायी 5 करोड़, क्रिकेटर ने कहा- 5 नहीं, 1.5 करोड़ है कीमत


नई दिल्ली

ICC T20 World Cup 2021 में अपनी चोट के कारण आलोचना का शिकार होने वाले आलराउंडर हार्दिक पांड्या की मुसीबत भारत लौटते ही बढ़ गई हैं, क्योंकि मुंबई कस्टम डिपार्टमेंट (सीमा शुल्क विभाग) ने उनको कुछ बेशकीमती सामान के साथ पकड़ा है। हार्दिक पांड्या के पास दुबई से लौटते समय दो घड़ी मिली हैं, जिनकी कीमत 5 करोड़ रुपये बताई जा रही है। इन बेशकीमती घड़ियों को कस्टम विभाग ने जब्त कर लिया है, क्योंकि हार्दिक पांड्या इनकी खरीदी के बिल नहीं दिखा सके। हालांकि, हार्दिक पांड्या ने इनकी कीमत डेढ़ करोड़ रुपए बतायी है। 

मुंबई कस्टम विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है, कस्टम विभाग ने क्रिकेटर हार्दिक पांड्या की 5 करोड़ रुपये की दो कलाई घड़ियां रविवार रात (14 नवंबर) को जब्त की जब वह दुबई से लौट रहे थे। क्रिकेटर के पास कथित तौर पर घड़ियों की बिल रसीद नहीं थी।

अब इस मामले पर हार्दिक पांड्या का आधिकारिक बयान सामने आ गया है, जिसमें उन्होंने बताया है कि घड़ियों की कीमत पांच करोड़ नहीं, बल्कि डेढ़ करोड़ रुपए है। पांड्या ने ये भी कहा है कि वे खुद सीमा शुल्क जमा करने के लिए कस्टम विभाग के काउंटर पर पहुंचे थे और उन्होंने अधिकारियों से हर प्रकार से सपोर्ट करने को कहा है। 

पांड्या ने अपने बयान में कहा, मैंने स्वेच्छा से उन सभी वस्तुओं की घोषणा की थी जिन्हें मैंने दुबई से कानूनी रूप से खरीदा था और जो भी शुल्क चुकाने की आवश्यकता थी, वह भुगतान करने के लिए तैयार थे। तथ्य की बात के रूप में कस्टम विभाग ने सभी खरीद दस्तावेज मांगे थे जो प्रस्तुत किए गए थे। हालांकि, कस्टम विभाग शुल्क के लिए उचित मूल्यांकन कर रहा है, जिसे मैंने पहले ही भुगतान करने की पुष्टि कर दी है।

गौरतलब है कि पिछले साल जब इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल खेलकर उनके भाई क्रुणाल पांड्या लौटे थे, तो उनको ऐसे ही कुछ सामान के साथ गिरफ्तार कर लिया गया था। 2020 में क्रुणाल का सामान भी कस्टम विभाग ने जब्त किया था, जबकि इस बार हार्दिक पांड्या को कीमती घड़ियों के साथ पकड़ा गया है। हालांकि, हार्दिक पांड्या के कस्टडी में लिए जाने की बात अभी तक सामने नहीं आई है, लेकिन निश्चित रूप से उनसे पूछताछ की गई होगी।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget