गुजरात में 600 करोड़ की 120 किलोग्राम ड्रग्स बरामद

PAK से आई थी, अफ्रीका भेजी जानी थी


मोरबी

 गुजरात में फिर ड्रग्स की खेप बरामद की गई है। सूरत जिले के जिंजुडा गांव से 120 किलोग्राम ड्रग्स की खेप बरामद की गई है। इंटरनेशनल मार्केट में इसकी कीमत करीब 600 करोड़ रुपए बताई गई है। गुजरात एक्शन टास्क फोर्स (ATS) ने मोरबी के शम्सउद्दीन सैयद, जब्बार मुख्तार हुसैन और गुलाम हुसैन को हिरासत में लिया है। यह खेप पाकिस्तान से समुद्री रास्ते के जरिए द्वारका पहुंचाई गई थी। इसके बाद इसे जिंजुडा गांव के एक घर में छिपाकर रख दिया गया था। कुछ दिन पहले द्वारका से ही 60 किलोग्राम ड्रग्स की जब्ती की गई थी।

अफ्रीका में होनी थी डिलीवरी

राज्य के पुलिस प्रमुख आशीष भाटिया ने कहा कि खेप की सप्लाई पाकिस्तानी तस्करों ने अक्टूबर में की थी। यहां से यह खेप अफ्रीकी देशों में भेजी जानी थी। इंडियन नेवी अलर्ट हाईअलर्ट पर थी, इसके चलते खेप को द्वारका में ही उतार लिया गया। इसके लिए स्थानीय मछुआरों की मदद ली गई थी। बाद में इसे सीमेंट की बोरियों में भरकर यहां रख दिया गया। कोस्ट गार्ड और नेवी के अलर्ट पर होने की वजह से यह कन्साइमेंट अफ्रीका नहीं भेजा जा सका। इसी दौरान ATS को इसकी जानकारी हो गई थी।

UAE में तैयार हुआ था प्लान

भाटिया ने आगे कहा- आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि ड्रग्स डिलीवरी का प्लान UAE के ड्रग डीलर्स ने तैयार किया था। इसकी जानकारी केंद्रीय एजेंसियों को दे दी गई है। जब्बार और गुलाम इलाके में हिस्ट्री शीटर हैं। ये पहले भी ड्रग्स केस में गिरफ्तार किए जा चुके हैं। दो बार दुबई भी जा चुके हैं।बता दें, 3 सितंबर को कच्छ के मुंद्रा पोर्ट से 21 हजार करोड़ रुपए की 2988 किग्रा ड्रग्स जब्त की गई थी। ड्रग्स की यह खेप टेलकम पॉवडर की शक्ल में दो कंटेनरों के जरिए ईरान, अफगानिस्तान होते हुए मुंद्रा बंदरगाह पहुंची थी। इस मामले में अब तक 10 लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है। मामले की जांच NIA कर रही है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget