दूसरी तिमाही में जीडीपी 8.1 प्रतिशत रहने का अनुमान


नई दिल्ली

देश के सबसे बड़े वाणज्यिकि बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपनी एक रिपोर्ट में कोरोना के मामलों में कमी आने और इसके टीकाकरण में तीव्र बढ़ोत्तरी होने से चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में सकल घरेेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर 8.1 प्रतिशत रहने का अनुमान जताते हुये आज कहा कि इसके मद्देनजर अब चालू वत्ति वर्ष में आर्थिक विकास दर 9.3 प्रतिशत से 9.6 प्रतिशत के बीच रह सकती है। एसबीआई ग्रुप के मुख्य आर्थिक सलाहकार सौम्य कांति घोष की इस रिपोर्ट में चालू वत्ति वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी के 8.1 प्रतिशत की गति से बढ़ने का अनुुमान जताया गया है, जो दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है। रिपोर्ट के अनुसार दुनिया की प्रमुख 28 अर्थव्यवस्थाओं का औसत जीडीपी विकास चालू वर्ष की तीसरी तिमाही में गिरकर 4.5 प्रतिशत पर आ गया, जबकि पहले यह 12.1 प्रतिशत था। 

रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्त वर्ष में रियल जीडीपी विकास 9.3 प्रतिशत से 9.6 प्रतिशत के बीच रहने का अनुमान है, जो वित्त वर्ष 2019-20 के कोरोना काल से पहले के जीडीपी विकास से 1.5 प्रतिशत से 1.7 प्रतिशत तक अधिक हो सकता है। एसबीआई की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त तिमाही में देश में कोरोना के मामलों में मात्र 11 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है, जो दुनिया के 15 सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देशों में दूूसरा सबसे कम है। सितंबर 2021 की तुलना में नवंबर 2021 में कोरोना मामलों की संख्या गिरकर 2.3 प्रतिशत पर आ गयी है। देश में अब तक 115.79 करोड़ कोरोना टीका लगाये जा चुके हैं। देश की योग्य 81 फीसदी आबादी को कम से कम इस टीके का एक डोज तथा 42 प्रतिशत को दोनों डोज लग चुकें हैं। हिमाचल प्रदेश, गुजरात, उत्तराखंड, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना और मध्य प्रदेश में 50 प्रतिशत से अधिक आबादी को दोनों डोज लगे हैं।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget