निर्विरोध हुआ डॉ. प्रज्ञा सातव का निर्वाचन

विधान परिषद उपचुनाव : भाजपा प्रत्याशी ने वापस लिया नामांकन

pragya satav

मुंबई

विधान परिषद उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी संजय केनेकर के नामांकन वापस लेने से कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार डॉ. प्रज्ञा राजीव सातव का निर्विरोध निर्वाचन हो गया है। उपचुनाव निर्विरोध होने पर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले और विधानमंडल में पार्टी के नेता और राजस्व मंत्री बाला साहेब थोरात ने महाविकास आघाड़ी के मित्र पक्ष सहित विपक्षी दल भाजपा का आभार प्रकट किया है। सोमवार 22 नवंबर को नामांकन पत्र वापस लेने की आखिरी तारीख थी।

चुनाव अधिकारी के डॉ. प्रज्ञा सातव को प्रमाणपत्र देते वक्त विधानमंडल में पार्टी नेता बाला साहेब थोरात, प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले, मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप, स्कूली शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ उपस्थित थीं। सभी ने विजयी उम्मीदवार डॉ. प्रज्ञा सातव ने शुभकामनाएं दीं।    

यह सीट कांग्रेसी नेता शरद रणपिसे के निधन से रिक्त हुई थी। प्रज्ञा सातव के निर्विरोध चुनाव के लिए कांग्रेस की तरफ से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले और राजस्व मंत्री बाला साहेब थोरात ने विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल से मुलाकात की थी। नाना पटोले ने कहा था कि महाराष्ट्र की परंपरा रही है कि किसी के निधन से रिक्त हुई सीट पर चुनाव निर्विरोध होते हैं। इसी सिलसिले में हमने विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस से मुलाकात की।

इसके पहले राज्यसभा उपचुनाव में निर्विरोध निर्वाचन के लिए कांग्रेसी नेताओं ने देवेंद्र फड़नवीस से मुलाकात की थी। कांग्रेस नेता राजीव सातव के निधन के बाद राज्यसभा की सीट रिक्त हुई थी, इस सीट पर कांग्रेस ने रजनी पाटिल को उम्मीदवार बनाया था, जबकि भाजपा ने संजय उपाध्याय को मैदान में उतारा था। बाद में भाजपा प्रत्याशी ने अपना पर्चा वापस ले लिया और रजनी पाटिल का निर्विरोध निर्वाचन हो गया।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget