साथी की गोली का शिकार हुए बिहार के दो लाल

पटना

छत्तीसगढ़ के सुकमा में सीआरपीएफ 50 बटालियन कैंप में तैनात एक जवान ने रविवार रात एक बजे अपने ही साथियों पर गोली चला दी। इस घटना में चार जवानों की मौत हो गई है, जबकि तीन घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मरने वालों में से दो राजमणि कुमार यादव और धर्मेंद्र सिंह बिहार के हैं। घटना में घायल एक अन्‍य जवान की हालत गंभीर बनी हुई है। राजमणि यादव का पैतृक घर बिहिया प्रखंड की कटेया पंचायत के समरदह गांव में है। जबकि धर्मेंद्र सिंह, संझौली थाना क्षेत्र के गरुणा गांव के रहने वाले थे। राममणि यादव का परिवार फिलहाल भोजपुर के ही जगदीशपुर प्रखंड के दुल्हिनगंज बाजार में अपना घर बना कर रहता है। उनके पिता भी बिहार पुलिस में दारोगा थे, जिनका दो वर्ष पहले ड्यूटी के दौरान असामयिक निधन हो गया था। बताया जा रहा है कि घटना में घायल होने के बाद धर्मेंद्र को अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। परिवारवालों को इसकी सूचना मिली, तो घर पर कोहराम मच गया। धर्मेंद्र अपने पीछे पत्‍नी, दो बेटियां और एक बेटा छोड़ गए हैं। बताया जा रहा है कि जवानों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हआ था। अपने ही साथियों पर गोली चलाने वाला जवान देर रात नक्‍सली क्षेत्र में ड्यूटी पर तैनात था। इसी दौरान उसका अपने साथियों से विवाद हो गया था। बाद में यह विवाद हिंसा में बदल गया। गुस्‍से में आपे से बाहर हो गए जवान ने अपने साथियों पर गोली चलानी शुरू कर दी। इस घटना में चार जवानों की मौत हो गई। आरोपी जवान से पूछताछ की जा रही है। मारे गए अन्‍य जवानों के नाम धनजी, राजीब मंडल और धर्मेंद्र कुमार हैं। घायल जवानों में धनंजय कुमार सिंह, धरमात्मा कुमार और मलय रंजन महाराणा शामिल हैं। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget