उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय पहुंची विजय मशाल


नई दिल्ली

1971 के भारत-पाक युद्ध में भारत की ऐतिहासिक विजय के 50 वर्ष पूरे होने के कार्यक्रमों के हिस्से के रूप में प्रधानमंत्री द्वारा विजय दिवस (16 दिसंबर) 2020 को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक नई दिल्ली से स्वर्णिम विजय मशाल को प्रज्ज्वलित कर राष्ट्र के विभिन्न हिस्सों के लिए रवाना किया गया था। 25 नवंबर को यह उत्तर मध्य रेलवे मुख्यालय पहुंची। इस मशाल को सशस्त्र बलों की एक टुकड़ी द्वारा सजाए गए वाहन में उत्तर मध्य रेलवे  मुख्यालय लाया गया था। उत्तर मध्य रेलवे  के खिलाड़ियों और भारत स्काउट्स एंड गाइड्स के सदस्यों ने अपने हाथों में तिरंगा लहराते हुए स्वर्णिम विजय मशाल की आगवानी की। 

मुख्य समारोह का आयोजन उत्तर मध्य रेलवे  मुख्यालय प्रांगण में मैदान में स्थापित 100 फीट ऊंचे राष्ट्रीय ध्वज की गोद में सम्पन्न हुआ। मैदान में वाहन से मशाल के उतरते ही उसका सेना के बैगपाइपर द्वारा सलामी स्थल की ओर ले जाया गया। परेड कमांडर योगेश राणा के नेतृत्व में आरपीएफ परेड ने स्वर्णिम विजय मशाल को गार्ड ऑफ ऑनर दिया। स्टेशन कमांडर और डिप्टी जनरल ऑफिसर कमॉंडिंग  पूर्वा यूपी और एमपी सब एरिया ब्रिगेडियर अजय पासबोला द्वारा मशाल को उत्तर मध्य रेलवे  के महाप्रबंधक प्रमोद कुमार को सौंपा गया। महाप्रबंधक द्वारा सलामी स्थल पर साहस और पराक्रम की  प्रतीक इस मशाल की स्थापना की गई। सलामी स्थल पर महाप्रबंधक महोदय के साथ आईजी/आरपीएफ/उत्तर मध्य रेलवे रवींद्र वर्मा उपस्थित थे। रेल सुरक्षा बल गारद ने मशाल को सामान्य सलामी दी और उसके उपरांत राष्ट्रगान हुआ। वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त मनोज सिंह ने सेना के साथ पूरे कार्यक्रम का समन्वय किया। समारोह में भारतीय सेना के अधिकारी, उत्तर मध्य रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी, डीआरएम/प्रयागराज और 970 रेलवे प्रादेशिक सेना, झांसी के अधिकारी उपस्थित थे।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget