टेक्निकल टेक्सटाइल पर फोकस


नई दिल्‍ली

केंद्रीय कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि तकनीकी वस्त्रों (टेक्निकल टेक्सटाइल) के निर्यात को तीन साल में मौजूदा के दो अरब डॉलर से बढ़ाकर दस अरब डॉलर करने का लक्ष्य रखने का समय आ गया है। यहां भारतीय तकनीकी वस्त्र संघ (ITTA) के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए गोयल ने कहा कि सरकार राज्यों में कपड़ा क्षेत्र के लिए उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना का समर्थन करेगी और कपड़ा निर्माण के लिए सस्ती जमीन और बिजली जैसी सस्ती बुनियादी सुविधाओं की पेशकश करेगी। गोयल के पास वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय तथा उपभोक्ता मामलों और खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग का भी प्रभार है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, मंत्री ने कहा कि हमें कपड़ा निर्माण में सर्वोत्तम मानकों के अनुरूप काम करना चाहिए। 

गोयल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बने वस्त्रों की गुणवत्ता में कोई अंतर नहीं होना चाहिए। मंत्री ने तकनीकी वस्त्रों में अनुसंधान और विकास में सरकारी धन के उपयोग के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी का सुझाव दिया।

ग्रोथ रेट को 20 फीसदी तक ले जाने का उद्देश्‍य

भारत में तकनीकी वस्त्रों के विकास ने पिछले पांच वर्षों में गति पकड़ी है। यह फिलहाल आठ फीसदी सालाना की दर से बढ़ रहा है। गोयल ने कहा कि हमारा लक्ष्य अगले पांच वर्ष के दौरान इस वृद्धि को 15-20 फीसदी तक ले जाने का है। गोयल ने कहा कि इसका मौजूदा वैश्विक बाजार 250 अरब डॉलर (18 लाख करोड़ रुपए) का है और इसमें भारत की हिस्सेदारी 19 अरब डॉलर है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget