अफगानी तालिबान में अब हक्कानी नेटवर्क नया किंगमेकर


वाशिंगटन

पिछले तीन महीने से अफगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा होने के बाद काबुल में नया किंगमेकर आतंकी संगठन हक्कानी नेटवर्क बन कर उभरा है। यह संगठन अमेरिका के खिलाफ सबसे भीषण आतंकी हमले करने के लिए कुख्यात है। हेरिटेज फाउंडेशन आफ एशियन स्टडीज के शोधार्थी जेफ एम. स्मिथ ने बताया कि अफगानिस्तान में सुरक्षा के हालत बेहद खराब हैं, क्योंकि नई कट्टरपंथी सरकार के कई अहम ओहदों पर हक्कानी नेटवर्क के लोग काबिज हैं।

इससे देश की आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा इस आतंकी संगठन के हाथों में आ चुका है। वैसे भी हक्कानी नेटवर्क को परंपरागत रूप से तालिबान का कट्टरपंथी चेहरा ही माना जाता रहा है। स्मिथ के अनुसार पचास लाख डालर के ईनामी आतंकी खलील उर रहमान हक्कानी को काबुल की सुरक्षा का मुखिया बनाया जाना कोई इत्तेफाक नहीं है। एक तरह से अब मुर्गी के दरबे की निगरानी लोमड़ी के हाथ में दे दी गई है।

काबुल में तालिबान ने एक अभियान छेड़कर आतंकी संगठन आइएस के कम से कम तीन आतंकियों को मार गिराया है। रूसी समाचार एजेंसी के मुताबिक काबुल में दो बम धमाके हुए। अब उत्तरी काबुल का यह क्षेत्र पूरी तरह से तालिबान के कब्जे में है। इन आतंकियों ने पिछले दिनों काबुल में दो बम धमाके किए थे। इसमें चार लोग मारे गए और कई घायल हो गए।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget