ईडी मेरे घर आई तो करूंगा स्वागत

nawab malik

मुंबई

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के विभाग के अंतर्गत आने वाले वक्फ बोर्ड संबंधी पुणे में हुए घोटाले की जांच ईडी ने शुरु की है। ईडी ने पुणे में सात जगह और औरंगाबाद में एक ठिकाने पर छापे मारे। बताया जा रहा है कि मनी लॉड्रिंग मामले में ये छापे मारे गए। 

इस बीच नवाब मलिक ने मंत्रालय में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि ये छापे वक्फ बोर्ड कार्यालय पर नहीं पड़े हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया में खबरें आ रहीं हैं कि ईडी मलिक के घर तक पहुंच जाएगी। अगर ऐसा होता है तो मैं जांच एजेंसी का स्वागत करूंगा।

उन्होंने कहा कि ईडी की छापेमारी ताबूत इनाम इंडोमेंट बोर्ड ट्रस्ट और उसके कुछ अधिकारियों पर पड़े हैं। मलिक ने ईडी पर तंज कसते हुए कहा कि वे एक ट्रस्ट नहीं, वक्फ की तरह से पंजीकृत 30 हजार संस्थाओं की जानकारी देंगे, उनकी जांच कीजिए। हम पारदर्शी कामकाज में ईडी को सहयोग करेंगे, ऐसे में उनका स्वागत है।  

मलिक ने कहा कि ईडी की जांच में हम पूरा सहयोग करेंगे, क्योंकि ईडी वहीं कर रही है जो हम पिछले दो साल से कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगस्त महीने में पुणे की बंडगार्डन पुलिस ने जांच में पाया था कि ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने 7.76 करोड़ रुपए का गबन किया था। इस मामले में कुछ आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया था। आरोपियों द्वारा मनी लॉड्रिंग की जानकारी सामने आने के बाद ईडी ने भी मामला दर्ज किया था, जो अब पुणे में छापेमारी कर रही है।

उन्होंने कहा कि पुणे में हुए घोटाले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही थी। ऐसे में उन्होंने खुद पुणे पुलिस आयुक्त अमिताभ गुप्ता को फोन किया। इसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया। वक्फ जमीन से जुड़ी शिकायतों को लेकर अब तक 7 एफआईआर दर्ज कराई जा चुकी है। मलिक ने कहा कि जब से उन्होंने अल्पसंख्यक कल्याण विभाग का जिम्मा संभाला है, वक्फ बोर्ड को पूरी आजादी दे रखी है। कोई शिकायत आने पर जांच शुरू की जाती है। वक्फ बोर्ड का कामकाज पारदर्शी तरीके से चल रहा है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget