एसटी हड़ताल का निकलेगा समाधान!

फड़नवीस और अनिल परब के बीच हुई चर्चा


मुंबई

पिछले कई दिनों से जारी एसटी महामंडल के कर्मचारियों की हड़ताल का हल तलाशने के लिए विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फड़नवीस और परिवहन मंत्री अनिल परब की गुरुवार को मुलाकात हुई।

इस दौरान फड़नवीस ने कहा कि राज्य के एसटी कर्मचारियों की हड़ताल लंबे समय तक चलना ठीक नहीं है। ऐसे में जल्द से जल्द समाधान निकालकर कर्मचारियों की समस्याओं का समाधान किया जाए और इसके लिए हम मदद करने को तैयार है।  इसके अलावा एसटी महामंडल के एक प्रतिनिधिमंडल ने भी फड़नवीस से मुलाकात की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा पूरी तरह एसटी कर्मचारियों के साथ है। उन्होंने कहा कि बुलढाणा में एक एसटी कर्मचारी ने खुदकुशी की है। एक अन्य कर्मचारी की डर की वजह से मृत्यु हो गई है, ऐसे में तत्काल चर्चा कर समस्या का समाधान जरूरी है। इस दौरान पूर्व राज्यमंत्री सदाभाऊ खोत और विधायक गोपीचंद पडलकर आदि भी उपस्थित थे।  

भाजपा विधायक गोपीचंद पडलकर ने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार पर आरोप लगाया कि उन्होंने 50 साल से एसटी कर्मचारियों के साथ विश्वासघात किया है। एसटी कर्मचारियों का एकमात्र संगठन मान्यता प्राप्त है और राज्य सरकार मान्यता प्राप्त संगठन से ही चर्चा करती है। पवार ने आज तक एसटी कर्मचारियों की मूल समस्याओं को कभी सरकार के सामने नहीं रखा। भाजपा विधायक ने कहा कि एसटी महामंडल के सरकार के साथ विलय के मुद्दे का हल नहीं निकलने तक आजाद मैदान नहीं छोड़ेंगे।

इधर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि एसटी कर्मचारियों को सरकारी सेवा में शामिल किया जाए, ऐसी कांग्रेस की भूमिका है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा एसटी कर्मचारियों के कंधों पर बंदूक रखकर चला रही है। उसकी दोहरी भूमिका है। एक तरफ केंद्र में निजीकरण किया जा रहा है। पूर्व वित्त मंत्री सुधीर मुनगंटीवार का भी कहना है कि एसटी कर्मचारियों को सरकारी सेवा में नहीं लिया जा सकता।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget