पीएम का पूर्व की यूपीए सरकार पर निशाना

रेल परियोजनाओं को जमीन पर उतरने में लग जाते थे वर्षों


भोपाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भोपाल में पुनर्विकसित 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घाटन किया। इसके साथ ही उन्‍होंने मध्य प्रदेश में भारतीय रेलवे की कई परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन भोपाल और मध्य प्रदेश के साथ-साथ पूरे देश के लिए गौरवपूर्ण इतिहास और वैभवशाली भविष्य के संगम का दिन है। भारतीय रेल का भविष्य कितना आधुनिक और उज्जवल है, इसका प्रतिबिंब भोपाल के इस आधुनिक स्टेशन पर जो भी आएगा, उसे दिखाई देगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भोपाल के इस रेलवे स्टेशन का सिर्फ कायाकल्प ही नहीं हुआ है, बल्कि रानी कमलापति जी का नाम इससे जुड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ गया है। रेलवे स्टेशन के पूरे ईको सिस्टम को इसी प्रकार ट्रांसफार्म करने के लिए आज देश के 175 से अधिक रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प किया जा रहा है। आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ आज भारत आने वाले वर्षों के लिए खुद को तैयार कर रहा है और बड़े लक्ष्यों पर काम कर रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब हम मास्टर प्लान को आधार बनाकर चलेंगे तो देश के संसाधनों का भी सही उपयोग होगा। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान के तहत सरकार अलग-अलग मंत्रालयों को एक प्लेटफॉर्म पर ला रही है। बीते सात वर्षों में हर वर्ष औसतन 2,500 किमी ट्रैक कमीशन किया गया है, जबकि उससे पहले के वर्षों में ये 1,500 किमी के आस-पास ही होता था। पहले की तुलना में इन वर्षों में रेलवे ट्रैक के बिजलीकरण की रफ्तार पांच गुना से अधिक हुई है।

पीएम मोदी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली तत्‍कालीन यूपीए सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले रेलवे को टूरिज्म के लिए यदि उपयोग किया भी गया तो उसको एक प्रीमियम क्लब तक ही सीमित रखा गया। पहली बार सामान्य मानवी को उचित राशि पर पर्यटन और तीर्थाटन का दिव्य अनुभव दिया जा रहा है। सरकार की ओर से रामायण सर्किट ट्रेन की शुरुआत ऐसा ही एक अभिनव प्रयास है।

पीएम मोदी ने कहा कि भारत कैसे बदल रहा है, सपने कैसे सच हो सकते हैं, यह देखना हो तो आज इसका एक उत्तम उदाहरण भारतीय रेलवे भी बन रहा है। छह से सात साल पहले तक, जिसका भी पाला भारतीय रेल से पड़ता था, तो वह भारतीय रेल को ही कोसते हुए नजर आते थे। हमने जिस तेजी के साथ रेलवे इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास किया है उसका लाभ किसानों, विद्यार्थियों, व्यापारियों और उद्यमियों को हो रहा है। आज किसान रेल के माध्यम से देश के कोने-कोने तक अपनी उपज भेज पा रहे हैं।

PM Modi ने कांग्रेस की अगुवाई वाली पूर्व की यूपीए सरकार पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि एक जमाना था जब रेलवे की परियोजनाओं को भी ड्राइंग बोर्ड से जमीन पर उतरने में ही सालों-साल लग जाते थे लेकिन आज सरकार ने भारतीय रेलवे में जितनी नई परियोजनाओं की प्लानिंग की है उतनी ही गंभीरता उनको समय पर पूरा करने में भी दिखाई है। रेलवे की ओर से किसानों को माल ढुलाई में बहुत छूट भी दी जा रही है। इसका बहुत बड़ा लाभ देश के छोटे किसानों को भी हो रहा है। उन्हें नए बाजार मिले हैं, उन्हें नया सामर्थ्य मिला है।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget