वाराणसी को मिला राष्ट्रपति से पुरस्कार

गंगा किनारे बसे सबसे स्‍वच्‍छ नगर का गौरव

वाराणसी

वित्तीय वर्ष 2020-21 में वाराणसी में नगर निगम ने कचरा प्रबंधन की दिशा में उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है। परिणाम, कचरा मुक्त हो गई काशी। इसके लिए शनिवार को नई दिल्‍ली स्थित विज्ञान भवन में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद पुरस्कृत किया। राष्ट्रपति की ओर से दो पुरष्कार मिलां है। एक स्वच्छ गंगा टाउन में प्रथम व दूसरा गरवेज फ्री सिटी का। वाराणसी को गंगा नदी क्षेत्र में बसे शहरों में सबसे स्‍वच्‍छ नगर घोषित किया गया। पुरस्‍कार लेने के लिए मंच पर यूपी सरकार के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, वाराणसी की मेयर मृदुला जायसवाल, अपर मुख्‍य सचिव नगर विकास रजनीश दूबे, वाराणसी नगर आयुक्‍त प्रणय सिंह शामिल रहें।

नगर में घर-घर कूड़ा उठान की कवायद कचरा मुक्त शहर के लिए बड़ी उपलब्धि है। निजी कंपनी एजी इनवायरो यह कार्य कर रही है। इसके अलावा निजी कंपनी विशाल गंगा के घाटों की सफाई व कचरा उठान कर रही है। दो संस्थाएं जीआईजेड इंडिया व करो संभव वैन लेकर घर तक जा रही हैं और कचरा प्रबंधन के गुर सिखा रही हैं। प्रमुख बाजारों में दिन-रात सफाई, मशीन से सड़कों की सफाई, पानी का छिड़काव, हरे भरे पार्क, सुंदर कुंड व तालाब आदि से बेहतर परिणाम संभावित है।

ठोस कचरा का स्मार्ट प्रबंधन

नगर में ठोस कचरा का स्मार्ट प्रबंधन हो रहा है। स्मार्ट सिटी योजना से जुड़े कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से कचरा घरों को जोड़ दिया गया है। सड़क किनारे रखे बड़े कंटनेर, सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालय सभी सेंटर से जुड़े हैं। उठान को लेकर नियमित रिपोर्ट बन रही है। नगर निगम मुख्यालय में स्वच्छता वार रूम भी बना है।


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget