नवाब के वार पर फड़नवीस का पलटवार

कभी... से मत लड़ो, आप ही हो जाएंगे गंदे  

fadanvis

मुंबई

क्रूज ड्रग्स से शुरू हुआ मामला अब आरोपों के 'बम-पटाखे' की तरफ मुड़ गया है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने नवाब मलिक के अंडरवर्ल्ड कनेक्शन का आरोप लगाया तो मलिक की तरफ से बुधवार को फड़नवीस पर जाली नोट के कारोबार को संरक्षण देने का आरोप लगाया गया। इसके कुछ देर बाद ही पूर्व मुख्यमंत्री ने एक ट्वीट कर इस लड़ाई को और तीखा कर दिया। इसमें उन्होंने किसी के भी नाम का उल्लेख नहीं करते हुए प्रसिद्ध नाटककार जॉर्ज बर्नाड शॉ की पंक्तियों को पोस्ट किया....मैंने बहुत पहले सीखा था, कभी सूअर से मत लड़ो... इससे आप ही गंदे हो जाएंगे.. जबकि सूअर को मजा आएगा।

मलिक के आरोपः इसके पहले बुधवार सुबह राकांपा प्रवक्ता और मंत्री नवाब मलिक ने आरोपों का हाइड्रोजन बम फोड़ा। मलिक ने आरोप लगाया कि 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के बाद देश में कई जगहों पर जाली नोट पकड़े गए थे, लेकिन महाराष्ट्र में पूरे एक साल तक एक भी केस सामने नहीं आया था। 8 अक्टूबर 2017 को महाराष्ट्र में हुई एक छापेमारी में 14 करोड़ 56 लाख से ज्यादा के जाली नोट पकड़े गए थे। उस मामले को देवेंद्र फड़नवीस ने रफा-दफा कराने का काम किया। छापेमारी को मात्र आठ लाख 80 हजार बताकर मामले को दबाया गया।  

वानखेड़े का भी आया जवाब 

नवाब मलिक के आरोपों पर एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े का भी जवाब सामने आया है। उन्होंने कहा है कि राकांपा नेता के सभी आरोप निराधार हैं। 2017 में छापेमारी में लगभग 10 लाख रुपए के जाली नोट जब्त किए गए थे,  न कि 14 करोड़ के। उन्होंने बताया कि इस मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। मामले की जांच के लिए डीआरआई ने एनआईए से संपर्क किया था, लेकिन एनआईए ने मामले को हाथ में लेने से इंकार कर दिया था।

मानसिक संतुलन संभालें मलिक: शेलार

फड़नवीस की तरफ से मोर्चा संभालते हुए भाजपा नेता आशीष शेलार ने कहा कि नवाब मलिक को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ेगी। मलिक के सारे आरोपों का संबंध देवेंद्र फड़नवीस से उसी तरह का है, जिस तरह से अकबर-बीरबल की कहानी में बीरबल ने नीचे आग रख कर ऊपर खिचड़ी पकाई थी। उन्होंने मलिक को मानसिक संतुलन बनाए रखने की सलाह दी। शेलार ने कहा कि मुन्ना यादव, हाजी अराफात शेख, हाजी हैदर आजम ये तीनों भाजपा के कार्यकर्ता हैं। उन्हें विभिन्न महामंडल का अध्यक्ष बनाया गया था। इसमें से हाजी अराफात शेख, हाजी हैदर आजम पर एक भी केस नहीं है। मुन्ना यादव पर राजनीतिक आंदोलन के आरोप हैं। शेलार ने कहा कि पिछले दो साल से आघाड़ी की सरकार है। विशेष बात यह है कि नवाब मलिक जिस पार्टी से आते हैं, उसके पास गृह मंत्री का पद है। आज वे जिस पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं, ऐसे हाजी अराफात शेख, हाजी हैदर आजम पर पिछले दो सालों में वे एक भी केस दर्ज नहीं कर पाए। मलिक ने रियाज भाटी का उल्लेख करते हुए भाजपा नेताओं के साथ फोटो दिखाए थे। इसके जवाब में शेलार ने कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना नेताओं के साथ रियाज भाटी के फोटो दिखाए। शेलार ने कहा कि मलिक मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों में अल्पसंख्यक समुदाय के उभरते हुए नेताओं की छवि खराब कर रहे हैं। सवाल यह है कि वह ऐसा क्यों कर रहे हैं?


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget