समीर वानखेड़े केस को 'एंड' तक ले जाएंगे

'दूत' से जोड़ा रिश्ता


मुंबई 

राकांपा मुख्य प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि मादक पदार्थ मामले में जिन पर आरोप थे, वे बाहर आ गए, जो आरोप लगा रहे थे, वे अब आरोपों के घेरे में हैं। कुल मिलाकर सिनेमा का सिक्वेंस बदल गया है। इसका अंत होने वाला है और हम इस मामले को आखिरी तक लेकर जाएंगे। वे रविवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।  

मलिक ने दोहराया कि हम विधानसभा में जो प्रकरण लेकर आने वाले हैं, उसका खुलासा होने से भाजपा को खासा नुकसान होगा। मलिक ने समीर वानखेड़े से एक भाजपा के दूत के रिश्ते जोड़ते हुए कहा कि यह व्यक्ति वानखेड़े से मुलाकात करने जाता है। यह व्यक्ति चेंबूर में रहता है। जब से मैंने इस विषय को उठाया है, तब से ये सज्जन ईडी कार्यालय जा रहे हैं। मलिक ने सवाल पूछा कि वह क्यों जाता है, किसके लिए जाता है, किसी के मन में क्या है? मलिक ने कहा कि वे वानखेड़े के जाति प्रमाण पत्र के मामले में सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे और जाति सत्यापन समिति के पास शिकायत दर्ज कराएंगे।

वह हमारा कार्यकर्ता है: राणे

इधर बुलढाणा में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने कहा कि नवाब मलिक कौन है? उनके दामाद कौन है? उन्हें अपनी पार्श्वभूमि देखकर दूसरे के बारे में बोलना चाहिए। मलिक के चेंबूर निवासी भाजपा के दूत के संबंध में राणे ने कहा कि इस क्या कहें। कौन-किसका मित्र है। वह मेरा मित्र नहीं, हमारा कार्यकर्ता है। मैं चेंबूर से हूं। मेरा बचपन वहां बीता। वह कोई आतंकवादी नहीं है, वह ईडी से संपर्क रखता है। 

मलिक के आरोप झूठे: आठवले

केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने कहा कि नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर जो आरोप लगाए हैं, वह बेबुनियाद और झूठे हैं। वे हमारे समाज की बदनामी कर रहे हैं। समीर के पिता का नाम दाऊद नहीं है, मैंने सभी कागजात देखे हैं। रविवार को समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर और उनके पिता ज्ञानदेव कचरूजी वानखेड़े आठवले से मुलाकात करने उनके घर गए थे। आठवले ने कहा कि उन पर अन्याय हो रहा है। ऐसे में मुझे उनका पक्ष लेकर उन्हें अपना समर्थन देने की जरूरत पड़ी।    


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget