छठ पूजा गाइडलाइन से असमंजस में उत्तर भारतीय

भाजपा और कांग्रेस ने की दिशा निर्देश में बदलाव की मांग 

chat pooja

मुंबई

उत्तर भारतीय समाज, खासकर उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल और बिहार के लोगों की आस्था से जुड़े सूर्योपासना के पर्व, छठ पूजा के लिए मनपा की जारी गाइडलाइन को लेकर छठव्रती असमंजस में पड़ गए हैं। भाजपा और कांग्रेस नेताओं ने मनपा से गाइडलाइन में बदलाव करने की मांग की है। उल्लेखनीय है कि मुंबई में लाखों की संख्या में छठव्रती रहते हैं जो तीन दिवसीय कठिन व्रत कर अस्ताचल गामी और उदयाचल गामी सूर्य को अर्ध्य देते हैं। जिसके लिए नदी, जलाशय या समुद्र का उपयोग किया जाता है।   

बता दें कि मनपा ने छठ पूजा को लेकर जो गाइडलाइन जारी की है उसमें चौपाटियों पर पूजा अर्चना की रोक तो लगाई ही गई है, वहीं छठ व्रतियों को कृत्रिम तालाब भी खुद बनाने के लिए कहा गया है। जिसको लेकर उत्तर भारतीय समाज के लोगों में भारी आक्रोश है। भाजपा नेता एवं उत्तर भारतीय मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष संजय पांडे ने कहा है कि शिवसेना का इससे उत्तर भारतीय समाज के प्रति द्वेष स्पष्ट रूप से दिखाई देता है। उन्होंने आरोप लगाया कि मनपा द्वारा जारी की गई गाइडलाइन उत्तर भारतीय समाज की आस्था को ठेस पहुंचाने के लिए जारी की गई है। समुद्र में जाने से लगाई गई रोक तो समझ में आती है, लेकिन कृत्रिम तालाब भी आयोजकों द्वारा अपने स्तर पर तैयार करने को कहा गया है जो पूर्णतः अनुचित और असंभव है। समाज के लोग कहां पर कृत्रिम तालाब बनाएं इसकी भी कोई जानकारी गाइडलाइन में नहीं दी गई है। संजय पांडे ने मनपा की सत्ताधारी को इसके लिए कसूरवार ठहराया है। उन्होंने कहा कि उत्तर भारतीय समाज को हेय दृष्टि से देखने वाली शिवसेना अब उनके आस्था पर भी आघात पहुंचाने का काम कर रही है। 

भाई जगताप ने सीएम को लिखा पत्र 

मनपा की गाइडलाइन का कांग्रेस ने भी विरोध किया है। मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर  मनपा की छठ पूजा को लेकर बनाई गई गाइडलाइन का विरोध जताया। उन्होंने पत्र में कहा है कि सीएम मनपा को निर्देश दें कि मनपा कृतिम तालाब बनाए। भाई जगताप ने कहा है कि कोरोना नियमों का पालन करते हुए जिस तरह गणेशोत्सव और नवरात्रि के समय मूर्तियों का विसर्जन करने के लिए कृत्रिम तालाब बनाया गया था, उसी तरह मनपा छठपूजा के लिए कृत्रिम तालाब बनाकर पूजा अर्चना की सुविधा उपलब्ध कराए। भाजपा नेताओं ने पिछले दिनों मनपा आयुक्त को मिलकर गाइडलाइन में बदलाव करने की अपील की थी। 


Labels:

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget