शिक्षा के क्षेत्र में कार्य के लिए ‘प्रथम’ को इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार


नई दिल्ली

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के क्षेत्र में काम करने वाली समाजसेवी संस्था 'प्रथम' को साल 2021 के इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार के लिए चुना गया है। इस संस्था की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रु‌िक्मणी बनर्जी हैं, जिनके नेतृत्व में संगठन ने शिक्षा के क्षेत्र में कई अहम शोध कार्य किए हैं।  

इंदिरा गांधी स्मारक न्यास की ओर से जारी बयान के मुताबिक पूर्व प्रधान न्यायाधीश टीएस ठाकुर की अध्यक्षता वाले निर्णायक मंडल ने 'प्रथम' को इस पुरस्कार के लिए चुना। न्यास ने कहा कि भारत और दुनिया भर में कमजोर तबकों के बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैया करने के प्रति समर्पित होने के लिए इस संस्था को यह पुरस्कार दिया जा रहा है। प्रथम द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की स्थिति के आकलन के लिए प्रतिवर्ष एक रिपोर्ट असर भी जारी की जाती है, जिसके आंकड़ों का इस्तेमाल सरकारें भी नीति निर्माण के लिए करती हैं।  

इंदिरा गांधी स्मारक न्यास द्वारा इंदिरा गांधी शांति, निरस्त्रीकरण और विकास पुरस्कार प्रति वर्ष विश्व के किसी ऐसे व्यक्ति या संस्था को प्रदान किया जाता है जिसने समाज सेवा, निरस्त्रीकरण या विकास के कार्य में महत्वपूर्ण योगदान दिया हो। इस पुरस्कार के अंतर्गत 25 लाख रुपये नकद और प्रशस्तिपत्र प्रदान किया जाता है। 

प्रथम की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रु‌िक्मणी बनर्जी की प्रतिक्रिया 

इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट को हम तहे दिल से धन्यवाद देते हैं कि स्व. इंदिराजी के जन्मदिन के अवसर पर आपने ‘प्रथम’ को इस पुरस्कार के लायक समझा है| हमारे देश में  शिक्षा के क्षेत्र में कई उपलब्धियां हुई हैं। सरकार और समाज के संयुक्त प्रयास से प्राथमिक शिक्षा का सार्वभौमिकरण तो हुआ है। अब विशेषकर महामारी काल से निकल कर हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हर बच्चा विद्यालय में नियमित रूप से जाए और उसकी पढाई मजबूती से हो। शिक्षक और अभिभावकों के साथ 'प्रथम' का भी यही प्रयास रहेगा। हम इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट के आभारी हैं कि हमें इस पुरस्कार से सम्मानित किया।


Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget